लखनऊ कैंट और कानपुर की गोविंदनगर सीट पर सपा ने घोषित किया उम्मीदवार, जाने किसे बनाया प्रत्याशी।

 


लखनऊ। प्रदेश की 11 विधानसभा सीटों पर 21 अक्टूबर को होने वाले उपचुनाव के लिए समाजवादी पार्टी ने शुक्रवार को दो सीटों पर उम्मीदवार घोषित कर दिए। इनमें लखनऊ कैंट से मेजर आशीष चतुर्वेदी और कानपुर की गोविंदनगर से सम्राट विकास को टिकट दिया गया है।









अखिलेश से हैं अच्छे रिश्ते



मेजर आशीष चतुर्वेदी के सपा मुखिया अखिलेश यादव से अच्छे रिश्ते हैं। वह भूतपूर्व सैनिक संघ उप्र के अध्यक्ष हैं और सैनिकों से सम्बन्धित सहित विभिन्न विषयों पर बेहद सक्रिय रहते हैं। माना जा रहा है कि कैंट में सैन्य परिवारों की संख्या अधिक होने के कारण पार्टी ने उन्हें टिकट दिया है। वह विभिन्न सामाजिक संगठनों से भी जुड़े हैं। वहीं सम्राट विकास समाजवादी छात्रसभा के प्रदेश उपाध्यक्ष और चर्चित नाम हैं।ये कर चुके हैं नामांकन



लखनऊ कैंट सीट के लिए गुरुवार को कांग्रेस के डीपी सिंह और बसपा के अरुण द्विवेदी नामांकन कर चुके हैं। इसी तरह कानपुर की गोविंदपुर सीट पर गुरुवार को बसपा के देवी प्रसाद तिवारी और जस्टिस पार्टी की अनिता देवी ने नामांकन किया।



यहां होना है चुनाव



उप चुनाव के लिए 30 सितम्बर तक नामांकन पत्र दाखिल किए जा सकेंगे। नामांकन पत्रों की जांच 1 अक्तूबर को होगी। 3 अक्तूबर तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। मतदान 21 अक्तूबर को होगा और 24 अक्तूबर को मतगणना कराई जाएगी। प्रदेश में सहारनपुर की गंगोह, रामपुर की रामपुर सदर, अलीगढ़ की इगलास (सुरक्षित), लखनऊ की लखनऊ कैंट, कानपुर की गोविंदनगर, चित्रकूट की मानिकपुर, प्रतापगढ़ की प्रतापगढ़ सदर, बाराबंकी की जैदपुर (सुरक्षित), अंबेडकरनगर की जलालपुर, बहराइच की बलहा तथा मऊ की घोसी सीटों पर उपचुनाव की प्रकिया चल रही है



 


Popular posts
अयोध्या में बड़ा हादसा टला , हेलीकॉप्टर की हुई इमरजेंसी लैंडिंग व पायलट की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा.
उत्तरप्रदेश के सीनियर आईएएस अफसरों के लिए खुशी की खबर..
बस्ती जिले में मुख्यमंत्री पर अभद्र टिप्पणी करने पर पूर्व मंत्री के बेटे पर मुकदमा दर्ज..
महंगा पड़ सकता हैं ऑनलाइन डेस्क, सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज फारवर्ड करने पर ,१७ नवम्बर को सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले का इन्तजार पूरे देश को।
Image
महामूर्ख मत बनो इस संक्रमण से मर जाओगे लापरवाही मत बरसो बार-बार अपील कर रहे हैं माननीय प्रधानमंत्री जी अपने घरों में रहकर अपनी सुरक्षा स्वयं करें और देश को भी सुरक्षित रखें.