संघ की बैठक में दो सौ प्रतिनिधियों की मौजूदगी के बाद भी मीडिया के लिए बाहर नहीं आ रहीं खबरें


संघ की बैठक में दो सौ प्रतिनिधियों की मौजूदगी के बाद भी मीडिया के लिए बाहर नहीं आ रही खबरें। पुष्कर की समन्वय बैठक में संघ प्रमुख मोहन भागवत, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित दिग्गज पदाधिकारी उपस्थित। 
7 सितम्बर से पुष्कर में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की तीन दिवसीय अखिल भारतीय समन्वय बैठक शुरू हो गई। महेश्वरी सेवा सदन में हो रही इस बैठक में देश भर के दो सौ प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। चूंकि इस बैठक में संघ प्रमुख मोहन भागवत और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद है, इसलिए देशभर का मीडिया पुष्कर में डेरा जमाए हैं। कई न्यूज चैनलों ने तो बैठक के बाहर ओवी वेन खड़ी कर रखी हैं ताकि लाइव कवरेज किया जा सके। लेकिन मीडिया कर्मियों को बैठक की अंदर की खबरें लाख कोशिश के बाद भी नहीं मिल रही हैं। सब जानते हैं कि केन्द्र में सत्ता रूढ़ सरकार को संघ की राजनीतिक शाखा भाजपा ही चला रही है, इसलिए संघ की बैठक का बहुत महत्व है। इसे संघ का अनुशासन ही कहा जाएगा कि मीडिया के लिए कोई खबर लीक नहीं हो रही है। यदि किसी अन्य संगठन की बैठक में दो सौ प्रतिनिधि होते तो मीडिया वाले लाइव कवरेज ही दिखा देते। मीडिया के पास संघ की बैठक की वो ही खबरें आ रही है जो संघ की ओर से अधिकृत तौर पर जारी की जा रही है। सात सितम्बर को भी संघ के सहप्रचार प्रमुख नरेन्द्र ठाकुर की ओर से एक छोटी सी प्रेस विज्ञाप्ति जारी की गई। इस विज्ञप्ति में बताया गया कि तीन दिवसीय समन्वय बैठक सात सितम्बर से शुरू हो गई है। इस बैठक में संघ से जुड़े 35 से भी अधिक संगठनों के दो सौ प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। बैठक में विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि अपने अनुभवों और आंकलनों का परस्पर आदान प्रदान कर रहे हैं। इस विज्ञप्ति में कहा गया है कि समन्वय बैठक के समापन के बाद 9 सितम्बर को एक प्रेस वार्ता को संघ के सहकार्यवाह दत्तात्रेय होंसबोले संबोधित करेंगे। इस विज्ञप्ति के साथ बैठक का फोटो भी जारी किया गया है। इस फोटो में छोटे से मंच पर संघ प्रमुख भागवत और सरकार्यवाह भैयाजी जोशी बैठे हैं, जबकि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और अन्य पदाधिकारी सामान्य तौर पर सामने बैठे हैं। न्यूज चैनलों के लिए एक वीडियो जारी किया गया है। जिसमें सिर्फ भजन की आवाज आ रही है। 
राष्ट्रीय मुद्दों पर मंथन:
संघ की समन्वय बैठक की खबरें भले ही बाहर न आ रही हों, लेकिन पूर्व में जो जानकारी दी गई, उसके अनुसार बैठक में राष्ट्रीय मुद्दों पर मंथन होगा। संघ के 35 से भी अधिक संगठनों के राष्ट्रीय प्रतिनिधि अपनी अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। संघ पहले ही कह चुका है कि सीमा क्षेत्रों में संघ की भूमिका को बढ़ाया जाएगा। यानि देश की जो सीमा पाकिस्तान, बंगालदेश, चीन आदि देशों से लगी हुई है उन क्षेत्रों में संघ के कार्यकर्ता सक्रिय होंगे। यह निर्णय अपने आप में महत्वपूर्ण है। भाजपा के अध्यक्ष नड्डा के साथ साथ बैठक में भाजपा के संगठन महासचिव बीएल संतोष और राममाधव भी उपस्थित है। संभवत: बीएल संतोष संघ और सरकार के मध्य तालमेल पर अपनी रिपोर्ट रखेंगे। वहीं राममाधव की ओर से जम्मू कश्मीर के हालातों पर रिपोर्ट रखी जाएगी। संघ शुरू से ही जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के पक्ष में रहा है और अब जब भाजपा की सरकार ने जम्मू कश्मीर से 370 को हटा दिया है तो यह संघ के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। चूंकि पिछले पांच वर्षों से राममाधव जम्मू कश्मीर की राजनीति में सक्रिय हैं इसलिए संघ की बैठक में उनकी उपस्थिति को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। सब जानते हैं कि संघ कभी भी दिशा निर्देश देने की बात स्वीकार नहीं करता। संघ के जो स्वयं सेवक भाजपा में मौजूद हैं, वे संघ की कार्यप्रणाली को अच्छी तरह समझते हैं। जेपी नड्डा बीएल संतोष और राममाधव स्वयं सेवक ही रहे हैं। संघ से जुड़े संगठनों के राष्ट्रीय स्तर के पदाधिकारी भी स्वयं सेवक ही नियुक्त किए जाते हैं। ऐसी स्थिति में संगठन भी स्वतंत्रत तौर पर काम करते हैं। 


Popular posts
प्रात: स्मरणीय व कल्याणकारी अत्यंत शुभ मंत्रों और उनके अर्थों के साथ जयशंकर यादव की तरफ से सुभप्रभात।
उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने दिया बहनों को तोहफा रक्षाबंधन पर बस यात्रा मुक्त..
Image
लखनऊ डीएम /बीसी अभिषेक प्रकाश की एलडीए पर बड़ी कार्रवाई..
तुलसीदास की लिखी रामायण की चौपाई , सचिव , वैद्य , गुरु जो बोले भय आज , राजधर्म तन ३ हुई बीग ही नाश.
किसी शायर ने खूब कहा , तारिक आज़मी की मोरबतियां - जय यादव की कलम से जो निकला वहीं सदातकत हैं, हमारी कलम के आगे तुम्हारी जीवाह छोटी सी है।
Image