अज़मेर में आदर्श क्रेडिट सोसायटी के खिलाफ सात और मुकदमें। मोदी परिवार को कोस रहें हैं जमाकर्ता।


अजमेर में आदर्श क्रेडिट सोसायटी के खिलाफ सात और मुकदमें। 
मोदी परिवार को कोस रहे हैं जमाकर्ता।
निवेशकों का कोई १४ हजार करोड़ रुपए खुर्दबुर्द करने वाली राजस्थान की आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी के खिलाफ अजमेर में सात और मुकदमें दर्ज किए गए हैं। इससे पहले चालीस निवेशकों ने सोसायटी के पदाधिकारियों के खिलाफ मुकदमें दर्ज कराए हैं। तीस सितम्बर को एसीजीएम प्रथम की अदालत में सात जमाकर्ताओं के प्रार्थना पत्र को स्वीकार करते हुए पुलिस को एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए हैं। जमाकर्ताओं के वकील अरविंद मीणा और प्रेम सिंह जोनवाल ने बताया कि अजमेर के कोटड़ा निवासी सुरेश बाबू के दो लाख पचास हजार रुपए, बीके कौल नगर निवासी श्रवणराम शर्मा के पांच लाख, कोटड़ा निवासी धर्मेन्द्र वर्मा के २ लाख पचास हजार, अजय नगर निवासी जीतेन्द्र टेकचंदानी के एक लाख बीस हजार, क्रिश्चियनगंज निवासी मदन सिंह भाटी के चार लाख बीस हजार, वैशाली नगर निवासी राखी सिंह के तीन लाख बीस हजार तथा पुष्पा भाटी के तीन लाख पचास हजार रुपए की वसूली को लेकर अदालत में इस्तगासा दायर किया गया था। सभी जमाकर्ताओं का कहना रहा कि जिन्दगी भर की कमाई आदर्श क्रेडिट सोसायटी में जमा करवाई थी, लेकिन अब सोसायटी की ओर से भुगतान नहीं किया जा रहा है। ऐसे में उनके परिवार के सामने भूखा मरने की स्थिति आ गई है। मीणा और जोनवाल ने बताया कि जो निवेशक सोसायटी के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही कर रहे हैं उन्हें भविष्य में राहत मिलने की उम्मीद है। न्यायालय ने सहारा इंडिया के मामले में उन्हीं निवेशकों को राहत दी है, जिन्होंने वैधानिक कार्यवाही की है। न्यायालय ने पहले भी चालीस निवेशकों के मामले में अजमेर की कोतवाली पुलिस स्टेशन पर जांच के लिए भिजवाएं हैं। 
मोदी परिवार को कोस रहे है जमाकर्ता:
आदर्श क्रेडिट सोसायटी की शुरुआत पाली जिले में मुकेश मोदी और उसके परिवार ने की थी। सहकारिता के नियमों की खामियों का फायदा उठाकर मोदी परिवार ने १४ हजार करोड़ रुपए की राशि जमा कर ली और फिर फर्जी कंपनियों में ऐसी राशि का निवेश कर दिया। इससे अब जमाकर्ता स्वयं को ठगा महसूस कर रहे हैं। कोई बीस लाख लोगों की राशि आदर्श सोसायटी में जमा है। लेकिन अब सोसायटी के पदाधिकारी भुगतान करने में असमर्थ है। हालांकि पुलिस ने मोदी परिवार के सभी सदस्यों को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया है। लेकिन निवेशकों को जमा राशि नहीं मिल रही है। यही वजह है कि अब गरीब निवेशक मोदी परिवार को कोस रहे हैं। 


Popular posts
अयोध्या में बड़ा हादसा टला , हेलीकॉप्टर की हुई इमरजेंसी लैंडिंग व पायलट की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा.
उत्तरप्रदेश के सीनियर आईएएस अफसरों के लिए खुशी की खबर..
बस्ती जिले में मुख्यमंत्री पर अभद्र टिप्पणी करने पर पूर्व मंत्री के बेटे पर मुकदमा दर्ज..
महंगा पड़ सकता हैं ऑनलाइन डेस्क, सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज फारवर्ड करने पर ,१७ नवम्बर को सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले का इन्तजार पूरे देश को।
Image
महामूर्ख मत बनो इस संक्रमण से मर जाओगे लापरवाही मत बरसो बार-बार अपील कर रहे हैं माननीय प्रधानमंत्री जी अपने घरों में रहकर अपनी सुरक्षा स्वयं करें और देश को भी सुरक्षित रखें.