प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा- खींवसर और मंडावा उपचुनाव जीतेंगे ,पर मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने कहा- मैं चुनाव हरवा भी सकता हूं।


प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा-खींवसर और मंडावा उपचुनाव जीतेंगे। 
पर मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने कहा-मैं चुनाव हरवा भी सकता हंू। 
मंत्रियों का अपना-अपना अंदाज। 
१० अक्टूबर को राजस्थाान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि २१ अक्टूबर को नागौर के खींवसर और झुंझनंू के मंडावा के उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशियों की जीत होगी। वहीं मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कहेंगे तो मैं मंडावा की कांग्रेस प्रत्याशी रीटा चौधरी को चुनाव जीतवा दूंगा नहीं तो हरवा भी सकता हंू। बड़बोले मंत्री ने एक सार्वजनिक सभा में दावा किया कि एससी वर्ग के मतदाता उन्हीं के इशारे पर वोट डालते हैं। मंत्री मेघवाल ने यह भी कहा कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का फोन आया था। गहलोत ने आग्रह किया कि मंडावा में चुनाव प्रचार किया जाए ताकि कांग्रेस की जीत हो सके, लेकिन मैंने दो टूक शब्दों में मुख्यमंत्री को कह दिया कि मैं १२ अक्टूबर से पहले मंडावा नहीं जा सकता हंू। मेरे कार्यक्रम पहले से ही तय हैं। इसलिए मुख्यमंत्री कहेंगे तो १२ अक्टूबर के बाद चुनाव प्रचार करने मंडावा चला जाऊंगा। मैं मंडावा में कांग्रेस प्रत्याशी को हरवा भी सकता हंू। मंत्री मेघवाल का यह वीडियो अब टीवी चैनलों पर दिखाया जा रहा है। मेघवाल के इस बयान से साफ प्रतीत होता है कि उपचुनावों को लेकर सरकार के मंत्रियों का अंदाज अलग अलग है। एक ओर डिप्टी सीएम पायलट जीत का दावा कर रहे हैं तो वहीं मंत्री मेघवाल कांग्रेस को ही हराने की बात कह रहे हैं। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने मंडावा से रीटा चौधरी को उम्मीदवार बनाया है। जबकि खींवसर से पूर्व मंत्री हरेन्द्र मिर्धा का कांग्रेस के उम्मीदवार है। 
भाजपा मंडल अध्यक्ष कांग्रेस में शामिल :
१० अक्टूबर को नागौर के खींवसर में भाजपा को तब झटका लगा जब खींवसर मंडल अध्यक्ष शंकर लाल २१ भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ कांग्रेस में शामिल हो गए। मालूम हो कि भाजपा ने खींवसर की सीट आरएलपी को समझौते में दी है। नागौर के सांसद और आरएलपी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने अपने भाई नारायण बेनीवाल को उम्मीदवार बनाया है। देखना होगा कि भाजपा के मंडल अध्यक्ष के कांग्रेस में शामिल होने से कांग्रेस को कितना फायदा होता है। भाजपा मंडल अध्यक्ष के कांग्रेस में शामिल होने के समय पूर्व सांसद ज्योति मिर्धा, नागौर के कांग्रेस अध्यक्ष जाकिर हुसैन, वरिष्ठ नेता डॉ. सहदेव चौधरी आदि उपस्थित रहे। 


Popular posts
बस्ती जिले में मुख्यमंत्री पर अभद्र टिप्पणी करने पर पूर्व मंत्री के बेटे पर मुकदमा दर्ज..
उत्तरप्रदेश के सीनियर आईएएस अफसरों के लिए खुशी की खबर..
अब तक की सबसे बड़ी खबर दिल्ली में 200 लोगों पर एफआईआर 3763 लोगों को हिरासत में लिया , कोरोना के बीच उल्लंघन करने पर सरकार का आदेश..
अयोध्या में बड़ा हादसा टला , हेलीकॉप्टर की हुई इमरजेंसी लैंडिंग व पायलट की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा.
महामूर्ख मत बनो इस संक्रमण से मर जाओगे लापरवाही मत बरसो बार-बार अपील कर रहे हैं माननीय प्रधानमंत्री जी अपने घरों में रहकर अपनी सुरक्षा स्वयं करें और देश को भी सुरक्षित रखें.