४०० सौ साल पुराना यह मन्दिर खुलता है साल में एक बार, इस बार खुलेगा ११ को रात में।

विविध :-कार्तिक पूर्णिमा के दिन भगवान शिव और देवी पार्वती के ज्येष्ठ पुत्र भगवान कार्तिकेय के दर्शन करने से भक्तों की मनोकामनाऐं पूरी होती हैं। इसी मान्यता के चलते मध्य प्रदेश के ग्वालियर में जीवाजीगंज क्षेत्र स्थित 400 साल पुराने कार्तिकेय मंदिर के पट साल में केवल एक बार कार्तिक पूर्णिमा को दर्शनार्थ खोले जाते हैं।कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को कार्तिक पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है, इस पूर्णिमा को उनका अवतरण माना गया है। इसीलिए इस माह को कार्तिक माह नाम दिया भी माना जाता है।इस पूर्णिमा को साल में एक बार ही भगवान कार्तिकेय मंदिर के पट खोले जाते हैं। इस दिन भगवान कार्तिकेय के दर्शन करने से भक्तों की मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।जीवाजीगंज स्थित भगवान कार्तिकेय के मंदिर के पट इस बार 11 नवंबर की रात्रि 12 बजे खोले जाएंगे। रात्रि 12 से सुबह 4 बजे तक भगवान कार्तिकेय का श्रृंगार किया जाएगा।इसके बाद 12 नवम्बर को सुबह 4 बजे से भक्तों द्वारा दर्शन आरंभ होंगे, जिसके लिए रात से ही उनका आना आरंभ हो जाएगा। दिन के बाद 12 नवंबर की पूरी रात दर्शनों के लिए पट खुले रहेंगे। रात बीतते ही पट बंद कर दिए जावेंगे, जो एक साल तक बंद रहेंगे।



Popular posts
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया बड़ा निर्देश, यूपी में प्रवेश करते ही कामगार व श्रमिकों खास ध्यान रखा जाए ..
तमिलनाडु के कोयंबटूर में भारी बारिश में दिवार गिरने से १५ लोगों की मौत , सरकार की तरफ से सभी लोगों को ४ लाख रुपए का मुआवजा ।
Image
पश्चिमी दिल्ली के नारायणा इलाके में दो बसों में आमने-सामने की टक्कर से स्कूल बस पलट गई 6 स्कूली बच्चे हुए घायल ,
लखनऊ के एक दरोगा ने मान्यता प्राप्त प्रत्रकार को जेल भेजने की थी धमकीं।
उत्तर प्रदेश लॉक डाउन 5 , शहर के चप्पे-चप्पे पर होगा पुलिस का पहरा, जानिए क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद..