बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने लिखा विभिन्न बार को पत्र, वकीलों द्वारा हिंसा के खिलाफ,(बीसीसीआई) ने पुलिस की कड़ी निन्दा की और उनके भी खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की मांग की।


नई दिल्ली: बार काउंसिल ऑफ इंडिया (बीसीआई) ने शनिवार को तीस हजारी अदालत परिसर में झड़प के दौरान कथित पुलिस कार्रवाई की निंदा की, जिसमें लगभग 10 पुलिस कर्मी और कई वकील घायल हो गए थे। बीसीआई ने इस पुलिस कार्रवाई को क्रूर करार दिया और पुलिस के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी।इसके बाद बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने विभिन्न बार को एक पत्र लिखा है। पत्र में कहा गया है कि साकेत कोर्ट के वकील द्वारा पुलिस कर्मी की पिटाई, ऑटो चालक के साथ धक्कामुक्की और आम नागरिकों की पिटाई जैसी घटनाएं बेहद शर्मनाक है। बार काउंसिल ऑफ इंडिया इसे कभी बर्दाश्त नहीं करेगा।  बार काउंसिल ने अपने पत्र में कहा कि हमें उन वकीलों की पहचान करनी चाहिए जो गुंडागर्दी में लिप्त रहे थे। साथ ही बार काउंसिल ने वकीलों से अनुरोध भी किया कि वे अपना विरोध समाप्त करें।काउंसलि ने अपने पत्र में लिखा कि वकीलों द्वारा की गई हिंसा की वजह से आज हम लोगों के बीच सहानुभूति खोते जा रहे हैं। बीसीआई के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा ने अपने पत्र में कहा कि ऐसे उपद्रवी तत्व संस्थान की छवि को धूमिल कर रहे हैं और यह इन अधिवक्ताओं को प्रोत्साहित करने वाले बार निकायों की निष्क्रियता और सहिष्णुता है, जिसके परिणामस्वरूप अंततः उच्च न्यायालयों या सुप्रीम कोर्ट द्वारा “अवमानना कार्यवाही” की जाएगी




Popular posts
*मतदान कर्मियों का प्रशिक्षण किसान डिग्री कालेज में होगा, सफाई सुनिश्चित करवाये-डी यम*
Image
*प्रथम चरण के मतदान हेतु पुलिस बल को एस पी व एएसपी द्वारा झंडा दिखाकर रवाना किया गया*
Image
*सड़क हुई अतिक्रमण का शिकार नहीं है प्रशासन का इस पर ध्यान*
Image
चुनाव प्रशिक्षण में गैर हाजिर मतदान कार्मिकों के विरुद्ध लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के अंतर्गत एफआईआर दर्ज कराने के दिए जिला मजिस्ट्रेट श्री सत्येंद्र कुमार ने निर्देश*
Image
*पुलिस एस ओ जी तथा स्वॉट टीम की संयुक्त कार्रवाई में सेल्समैन को लूटने वाले अभियुक्त 182000 के साथ 24 घंटे के अंदर भी गिरफ्तार*
Image