बी० जे० पी० की सियासी सर्जिकल स्ट्राइक , देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री और अजीत पवार बनें उप मुख्यमंत्री , महाराष्ट्र में हटा राष्ट्रपति शासन।


भाजपा की सियासी सर्जिकल स्ट्राइक – देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री और अजीत पवार बने उप मुख्यमंत्री, महाराष्ट्र में हटा राष्ट्रपति शासन, जाने किसने क्या कहा महाराष्ट्र में सियासी घमासान के बीच अचानक एक रातो रात सर्जिकल स्ट्राइक होती है और एनसीपी के शरद पवार के बेटे अजीत पवार ने भाजपा को समर्थन देकर खुद उप मुख्यमंत्री का पद पाया है। जब महाराष्ट्र की राजनीति में शुक्रवार सब कुछ तय हो चुका था। कई दौर की बैठकों के बाद कांग्रेस एनसीपी और शिवसेना के बीच तय हो चुका था कि महाराष्ट्र के नए सीएम उद्धव ठाकरे होंगे और तीनों दल मिलकर शनिवार यानी आज सरकार बनाने का दावा पेश करने वाले थे। यहां तक कि किस नेता को क्या जिम्मेदारी दी जाएगी इस पर भी फैसला हो चुका था।इसकेमुताबिक शिवसेना का मुख्यमंत्री पूरे पांच साल के लिए बनेगा। दो डिप्टी सीएम कांग्रेस और एनसीपी के बनेंगे और दोनों पांच साल तक रहेंगे। शाम को एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने इसकी घोषणा कर दी। शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। लेकिन रातों-रात कुछ ऐसा हुआ कि एनसीपी नेता अजित पवार बीजेपी के साथ खड़े हो गए और सुबह उन्होंने राजभवन पहुंचकर डिप्टी सीएम पद की शपथ ले ली।आज सुबह  न्यूजरूम में भी कुछ माहौल ऐसा ही था सभी लोग तीनों दलों की बनने वाली सरकार पर चर्चा कर रहे थे तभी न्यूज एजेंसी ANI ने 8 बजे पहला ट्वीट किया कि देवेंद्र फडणवीस ने राजभवन पहुंचकर सीएम पद की शपथ लेने जा रहे हैं। तो पहली सबको ऐसा लगा कि यह गलत जानकारी दी गई है। लेकिन अचानक से टीवी न्यूज चैनलों में देवेंद्र फडणवीस के शपथ लेने की तस्वीरें आने लगीं।





प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिया बधाई :-इसके बाद पीएम मोदी ने ट्वीट में लिखा, ”महाराष्ट्र के सीएम और डिप्टी सीएम के रूप में शपथ लेने पर क्रमश: देवेंद्र फडणवीस जी और अजीत पवार जी को बधाई। मुझे विश्वास है कि वे महाराष्ट्र के उज्ज्वल भविष्य के लिए लगन से काम करेंगे।” वही दूसरी तरफ शरद पवार ने इस प्रकरण में कहा है कि बीजेपी को समर्थन करना अजित पवार का निजी फैसला है। एनसीपी इसमें शामिल नहीं है। शरद पवार ने कहा, 'मैं उनके इस फैसले का किसी तरह से समर्थन नहीं करता हूं'


सुप्रिया शुले बोली परिवार और पार्टी टूट गई :-सुप्रिया शुले ने अपने व्हाट्सअप स्टेटस के माध्यम से कहा है कि ”जीवन में आप किस पर विश्वास करेंगे। मैंने अपने जीवन में ऐसा छल नहीं देखा था। उनका बचाव किया, उन्हें प्यार किया। देखिए उनसे हमें क्या मिला?” इसके अलावा एक और स्टेटस भी लिखा जिसमे उन्होंने लिखा कि “टूट गई पार्टी और परिवार”।


भाजपा ने किया है फर्जिकल स्ट्राईक – उद्धव ठाकरे :-इसी बीच हुई जॉइंट प्रेस कांफ्रेस में उद्धव ठाकरे ने कहा है कि यह लोकतंत्र के लिए एक बड़ा खतरा है। यह भाजपा द्वारा लोकतंत्र की हत्या करने की चाल है। हम जो भी करते है वह टीवी चैनल के सामने करते है। भाजपा रात को सत्ता बनाने का खेल खेलती है। बिहार में लालू सरकार के साथ खेला और हरियाणा में खेला। उन्होंने कहा कि भाजपा ने महाराष्ट्र पर सियासी फर्जिकल स्ट्राइक किया है। उन्होंने कहा कि हम एक साथ खड़े है।


भाजपा के पास संख्या बल नही, सरकार हम बनायेगे – शरद पवार :-वही शरद  ने कहा कि अजीत पवार का खुद का निजी फैसला है। हम (कांग्रेस-शिवसेना और एनसीपी) एक साथ खड़े है। उन्होंने कहा कि अजीत पवार के खिलाफ जो कदम उठाने होंगे वह विधायक दल के बैठक में फैसला होगा। उन्होंने इस दौरान पत्रकारों के सामने कई ऐसे विधायको को पेश किया जिनके संपर्क में अजीत पवार थे। उन्होंने बताया कि गठबंधन सरकार हेतु जो सहमती पत्र बन रहा था अजीत पवार उसके लेकर गए है और उसमे गड़बड़ी किया है। भाजपा के साथ संख्या बल नही है। उन्होंने कहा कि हमारे पास संख्या बल है और सरकार हम बनायेगे।


क्या कहा देवेंद्र फडणवीस ने :-सबसे पहले हमारे नेता आदरणीय मोदी जी और अमित शाह का आभार व्यक्त करता हूं. शिवसेना ने जनादेश को नकारते हुए हमसे अलग सरकार बनाने की कोशिश की. महाराष्ट्र को स्थाई सरकार बने इसके लिए हम अजित पवार को आभार व्यक्त करता हूं. हमें विश्वास है कि हम स्थिर सरकार दे पाएंगे


अजित पवार ने क्या कहा :-महाराष्ट्र में नतीजे आने के बाद कोई सरकार नहीं बना पाया. महाराष्ट्र में कई दिक्कते हैं. हमने निर्णय लिया और स्थिर सरकार बनाई है.


जाने कब क्या हुआ



  • रात करीब 11:45 बजे : अजित पवार और बीजेपी में डील पक्की हुई।

  • रात 11:55 बजे : देवेंद्र फडणवीस ने पार्टी को सूचना दी कि शपथ ग्रहण की तैयारी पुख्ता की जाए और शिवसेना और कांग्रेस में किसी को पता नहीं लगने पाए।

  • रात 12:30 बजे : राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने नई दिल्ली के लिए अपनी यात्रा रद्द कर दी।

  • रात 2:10 बजे : राज्यपाल के सचिव को कहा गया कि वह सुबह 5।47 बजे राष्ट्रपति शासन हटाने की अधिसूचना जारी करें और सुबह 6।30 बजे शपथग्रहण की व्यवस्था करें।

  • रात 2:30 बजे : सचिव ने कहा कि वह दो घंटे में नोटिफिकेशन जारी कर देंगे और सुबह 7: 30 बजे तक शपथग्रहण की व्यवस्था कर देंगे।

  • रात 1:45 बजे से लेकर शनिवार सुबह 9 बजे तक अजीत पवार फडणवीस के साथ रहे और शपथ ग्रहण होने तक नहीं गए।

  • सुबह 5:30 बजे : फडणवीस और अजित पवार राजभवन पहुंचे।

  • सुबह 5:47 बजे : राष्ट्रपति शासन हटाने की अधिसूचना जारी कर दी गई। लेकिन घोषणा सुबह 9 बजे हुई।

  • सुबह 7:50 बजे : शपथ ग्रहण शुरू हो गया।

  • सुबह 8:10 बजे : यह खबर पूरे देश में सुर्खी बन गई।

  • सुबह 8:16 बजे : पीएम मोदी ने सीएम और डिप्टी सीएम को बधाई।



Popular posts
शिक्षा किसी धर्म सम्प्रदाय की एकलौती वरासत नहीं है , मास्टर फिरोज जी अगर संस्कृत पढ़ायेंगे तो वह फारसी के शब्द बोलेगा।
Image
प्रात: स्मरणीय व कल्याणकारी अत्यंत शुभ मंत्रों और उनके अर्थों के साथ जयशंकर यादव की तरफ से सुभप्रभात।
क्या झारखण्ड चुनावों से गायब मोबलीचिंग की घटनाओं पर तारिक आज़मी की मोरबतियां - चार दिन चर्चा उठेंगी डेमोक्रेसी ।
Image
रजनीकांत की पॉलिटिक्स में एंट्री , अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में..
Image
करवा चौथ का व्रत पत्नी और भाभी मां के परिवार साथ संपन्न हुआ , व्रत के बाद इन चीजों का किया सेवन..
Image