चंडीगढ़ से सटे मोहाली शहर में तीन युवतियों को टक्कर मारने वाले अफसर के बेटे को लेकर गायब हुई महिला।

चंडीगढ़ से सटे मोहाली शहर में एक ऐसी घटना हुई, जिससे पुलिस और प्रशासन से वोगों का विश्वास टूटता सा प्रतीत हुआ। पुलिस अफसर के बेटे ने तीन महिलाओं को चोटिल कर दिया। उसै बतौर आरोपी पुलिस पकड़ने आती, इसके पहले एक महिला आई और दबंगी दर्शाते हुए अपने साथ ले गई। जनता तमाशबीन बनी रह गई। घायल महिलाओं को अस्पताल ले जाने की मानवता दिखाई एक अन्य वाहन चालक ने।





जानकारी के मुताबिक सेक्टर- 78/79 डिवाइडिंग रोड पर वीरवार देर रात पंजाब पुलिस के एक एआईजी के बेटे ने अपनी जगुआर गाड़ी से पहले एक्टिवा सवार युवती को इतना जोर से टक्कर मारी कि वह उछलकर दूर जा गिरी।मौके से भागने के चक्कर में अफसर नन्दन ने अपनी जगुआर की रफ्तार और तेज कर दी लेकिन वह एक थार से जा टकराई। फलस्वरूप थार में सवार सेक्टर-70 निवासी रीतू और उसकी मां परमिंदर कौर गंभीर रूप से जख्मी हो गईं।इसके बाद मौके पर पुलिस होना चाहिए थी लेकिन कुछ देर बाद लोगों के जमावड़े के बीच बलेनो गाड़ी से एक महिला पहुंची और बोली-  'ओए मेरे एकम नू क्या हो गया…' ऐसा बोलते हुए वह जगुआर चालक युवक व उसकी साथी युवती को अपनी बलेनो से लकर चलती बनी। एक्टिवा सवार घायल युवती, थार चालक युवती व उसकी मां की तपफ ध्यान भी न दिया, जबकि खबर है कि, तीनों महिलाऐं गंभीर रूप स् जख्मी होकर तड़प रही थीं।कुछ देर बाद भीड़ में शामिल एक उबर चालक युवक तीनों को उन्हें नजदीक के अस्पताल ले गया। जहां से उन्हें गंभीरता के चलते पीजीआई रेफर किया।इसके बाद पहुंची सोहाना पुलिस ने क्षतिग्रस्त गाड़ियों को कब्जे में ले लिया है। एआईजी के बेटे से जुड़े मामले के चलते पुलिस कुछ बताने को तैयार नहीं है। सूत्रों की माने तो जगुआर में मोहाली निवासी एक एआईजी (पुलिस) का बेटा अपनी प्रेमिका के साथ था, दोनों ही तेज नशे में थे।सोहाना एसएचओ से लेकर इंवेस्टिगेशन अफसर नायब सिंह ने कहा कि मामला अंडर इंवेस्टिगेशन है। वीरवार रात करीब 11 बजे एमजीआरएफ की तरफ से एक तेज रफ्तार काले रंग की जुगआर नंबर- सीएच 01बीबी 4640 आई और सेक्टर- 78/79 के चौराहे पर दूसरी तरफ से आ रही एक एक्टिवा सवार युवती को टक्कर मार दी।जगुआर की स्पीड बहुत ज्यादा थी। टक्कर के बाद एक्टिवा सवार युवती दूसरी तरफ जाकर गिरी और जगुआर के बैलून खुलने के कारण जगुआर बेकाबू हो गई और एक थार को हिट कर दिया।




Popular posts
शिक्षा किसी धर्म सम्प्रदाय की एकलौती वरासत नहीं है , मास्टर फिरोज जी अगर संस्कृत पढ़ायेंगे तो वह फारसी के शब्द बोलेगा।
Image
प्रात: स्मरणीय व कल्याणकारी अत्यंत शुभ मंत्रों और उनके अर्थों के साथ जयशंकर यादव की तरफ से सुभप्रभात।
क्या झारखण्ड चुनावों से गायब मोबलीचिंग की घटनाओं पर तारिक आज़मी की मोरबतियां - चार दिन चर्चा उठेंगी डेमोक्रेसी ।
Image
रजनीकांत की पॉलिटिक्स में एंट्री , अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में..
Image
करवा चौथ का व्रत पत्नी और भाभी मां के परिवार साथ संपन्न हुआ , व्रत के बाद इन चीजों का किया सेवन..
Image