दिग्विजय सिंह किसी भी महोलम में हो, पीएम मोदी और दूसरे वरिष्ठ भाजपा नेताओं पर व्यंग्य वाण चलाने से।

खूब हंसाया मोदी, भाजपा और शिवसेना पर दिग्विजय के व्यंग्य वाणों ने




राजनीतिक - प्रशासनिक  



वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह किसी भी माहौल में हों, पीएम मोदी और दूसरे वरिष्ठ भाजपा नेताओं पर व्यंग्य वाण चलाने से चूकते नहीं। व्यंग्य के रूप में उनके द्वारा लगाए जाने वाले आरोप चूंकि, तार्किक और ज्यादातर सबूतों पर आधारित होते हैं इस कारण जनता पर प्रभाव भी डालते हैं। जनता को हंसने पर मजबूर भी करते हैं।गत दिवस ग्वालियर में एक कार्यक्रम में जब उन्होंने पीएम मोदी के साथ साथ भाजपा और शिवसेना पर व्यंग्य वाणों की बौछार की तो उपस्थित जन खूब हंसे। व्यंगात्मक लहजे में दिग्विजय सिंह ने कहा कि हम प्रधानमंत्री जी से प्रार्थना करते हैं, कि देश में बेरोजगारी बढ़ रही है उस पर तो ध्यान दें। बैंकों की हालत बिगड़ रही है, उस पर तो ध्यान दें, अर्थव्यवस्था बिगड़ रही है।दिग्विजय सिंह के मुताबिक प्रधानमंत्री से बेरोजगारी और अर्थव्यवस्था के बारे में पूछो तो आतंकवाद और पाकिस्तान की बात करते हैं। वह बोले कि, अब तो ये भी खबर है कि गोल्ड कंट्रोल एक्ट लाया जा रहा है, जिसमें कि हर परिवार को सोना सीमित रखने के लिए कहा जाएगा।दिग्विजय ने मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि माननीय प्रधानमंत्री जी से हमारी यही प्रार्थना है कि अर्थव्यवस्था संभालें, बैंकों की हालत ठीक करें।महाराष्ट्र में सरकार बनाने के मुद्दे पर दिग्विजय सिंह ने शिवसेना औऱ बीजेपी पर तंज कसा है। दिग्विजय ने कहा सत्ता का लालच ऐसे गठबंधन करा देती है जहां दिल नहीं मिलते, सत्ता के लिए इकट्ठे हो जाते हैं।उन्होंने याद दिलाया कि, कश्मीर में पीडीपी और बीजेपी का गठबंधन भी था, बीजेपी ने सारे पीडीपी नेताओं को जेल में डाल दिया, शिवसेना और भाजपा का गठबंधन भी सत्ता के लिए हैै। कोई विचारधारा के लिए नहीं, अब बात 50-50 की हो रही है।मध्य प्रदेश में चल रही विधान परिषद के गठन की कवायद को लेकर उन्होंने  कहा कि इससे उन लोगों को फायदा मिलेगा जो किसी कारण चुनाव नहीं लड़ पाते,  साथ ही समाज के कई वर्गों को भी मौका मिलेगा।