दिल्लीः तीस हजारी कोर्ट में आमने-सामने हुवे वकील और पुलिस के बीच हिंसाक झड़प।
नई दिल्ली। आज दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच हिंसक झड़प हुई जिसमे 20 पुलिस कर्मियों और 8 वकीलों के घायल होने का समाचार प्राप्त हो रहा है। मामला दोपहर तीन बजे के करीब का है। इस दौरान पुलिस द्वारा हवा में गोली चलाये जाने का भी आरोप लगा था। गुस्साए वकीलों ने पुलिसकर्मियों को घेरकर उनके साथ बदसलूकी शुरू कर दी। वकीलों की भीड़ बढ़ती देख पुलिसकर्मियों ने हवा में गोली चलाई, जो एक वकील को लग गई। इससे गुस्साए वकीलों ने पुलिसकर्मियों को पीटने के साथ ही कोर्ट परिसर में खड़ी एक जिप्सी व 13 बाइकों सहित 17 वाहनों को आग के हवाले कर दिया।पूरे मामले में एक एडीसीपी, दो एसएचओ सहित 20 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। उधर, वकीलों ने अपने आठ साथियों के घायल होने की बात कही है। देर शाम तक कोर्ट परिसर में तनाव का माहौल था। वकीलों ने आरोपी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर केस दर्ज करवाने की मांग को लेकर सोमवार को निचली अदालतों में हड़ताल का एलान किया है।                                                       एक वकील के पैर में लगी गोली।                घायल वकील का नाम विजय वर्मा बताया जा रहा है। बार काउंसिल ऑफ दिल्ली के वाइस चेयरमैन डीके सिंह एक वकील के पैर में गोली लगने की पुष्टि की है। बताया जा रहा है कि आरोपी पुलिसकर्मियों ने वकीलों की भीड़ से जान बचाने के लिए खुद को लॉकअप में बंद किया हुआ है।                    वीडियो बना रहे मीडियाकर्मियों को भी पीटा पुलिस कर्मियों ने घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे मीडियाकर्मियों के साथ भी मारपीट की। तीस हजारी कोर्ट के सभी दरवाजे बंद कर दिए गए। पुलिस वाले सभी दरवाजों के इर्द-गिर्द घेरा बना दिया, ताकि और वकील अंदर ना घुसने पाए। कोर्ट के आसपास आने जाने वाले रास्तों पर भीड़ लगातार बढ़ती गई।                                                  पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से बदसलूकी।        बवाल की सूचना मिलते ही अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त हरेंद्र सिंह व उपायुक्त मोनिका भारद्वाज मौके पर पहुंचे तो उनके साथ भी बदसलूकी की गई। कुछ समय के लिए वकीलों ने कोर्ट को पूरी तरह से घेर लिया।वकील कोर्ट के अंदर व पुलिस बाहर मौजूद थी। हालात बिगड़ते देखकर वरिष्ठ पुलिस  अधिकारियोंने आसपास के सभी थानों के अलावा दूसरे जिलों से फोर्स बुला ली। स्पेशल सीपी (लॉ एंड ऑर्डर नॉर्थ) संजय सिंह, संयुक्त आयुक्त मनीष कुमार अग्रवाल, आलोक कुमार समेत कई पुलिस उपायुक्त मौके पर पहुंचे।शाम करीब पांच बजे किसी तरह कोर्ट में दाखिल होकर पुलिसकर्मियों ने वकीलों को खदेड़ा। इसके बाद दमकल की गाड़ियां भी कोर्ट परिसर में दाखिल हो पाईं। देर शाम तक पुलिस के आलाधिकारी वकीलों को समझाने में लगे थे।