इटावा में आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस पर पत्थर फेंकने लगे , फांसी पर लटके शव को लेने पहुंची थी।


 इटावा में पुलिस पर पत्थर फेकने लगे लोग ,फांसी पर लटके शव को लेने पहुंची थी हत्या कर युवक का शव लटकाने के आरोप पर पहुंची थी पुलिस





  • फोटो खींचने पर पत्रकार को पीटा, मोबाइल छीना

  • सीओ को समझाने पर किसी तरह माने गुस्साए ग्रामीण 
    निशंक न्यूज


इटावा :- इकदिल के लुधियात मुहाल निवासी मनोज कुमार राजपूत( 25) की हत्या के बाद हंगामा खड़ा हो गया. मनोज की हत्या कर उसको फांसी पर लटका दिया गया. सूचना मिलते पुलिस मौके पर पहुंच गई और मनोज की बॉडी को वहां से उठाकर इटावा पोस्टमार्टम हाउस भिजवा दिया. इधर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस को देखते ही आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने हालात पर काबू पाया।



इकदिल के लुधियात मुहाल निवासी मनोज कुमार राजपूत का मोहल्ले के ही कुछ युवकों से विवाद हो गया था। मामले में पुलिस दोनों युवकों को पकड़कर ले आई थी। देर रात उन्हें थाने से छोड़ दिया गया। वहीं आज सुबह मनोज का शव फांसी पर लटका हुआ पाया गया। आरोप है कि मनोज की हत्या कर शव लटकाया गया। इधर मनोज के शव के पास परिजन व इलाकाई लोग एकित्रत हो गए। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस पर आक्रोशित लोगों ने पथराव करना शुरू कर दिया। पथराव में दरोगा ओमप्रकाश सहित 2 महिला कांस्टेबलों के चोटे आई, लोगों का आक्रोश यहीं पर नहीं थमा, थोड़ी देर में आगरा कानपुर नेशनल हाईवे पर पहुंच गए और वहां पर जाम लगा दिया, वहां कवरेज करने गए पत्रकार दीपक को पीटा और उसका मोबाइल छीन लिया । जानकारी मिलने पर एसपी सिटी राम यश सिंह, सीओ सिटी चंद्रपाल सिंह, मौके पर पहुंचे और आक्रोशित लोगों को समझाया. घटना की निष्पक्ष जांच कराने का भरोसा दिया गया है एसपी सिटी राम यश सिंह ने बताया कि मामले में निष्पक्ष जांच कराई जाएगी जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. मनोज राजपूत सब्जी बेचने का काम करता था. मंगलवार को उसका मोहल्ले के ही दो लोगों से झगड़ा हुआ था जिनको पुलिस पकड़ कर ले आई थी बाद में देर रात छोड़ दिया था सुबह मनोज फांसी पर लटका हुआ पाया गया.