महाराष्ट्र सरकार निर्माण पर ओवैसी का तंज़, कहा ये ५० - ५० क्या है। क्या कोई नया बिस्कुट आया है क्या।


नई दिल्ली: महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर शिवसेना और भाजपा में चल रही तकरार पर असदुद्दीन ओवैसी ने तंज कसा है। उन्होंने पूछा है कि ये ५०-५० क्या है? क्या ये एक नया बिस्किट है? साथ ही ओवैसी ने कहा कि ये इन लोगों को लोगों की समस्याओं की कोई चिंता नहीं है। न्यूज एजेंसी एएनआई ने ओवैसी के हवाले से लिखा है, 'ये ५०-५० क्या है, कोई नया बिस्किट है क्या? कितना ५०-५० करोगे? कुछ महाराष्ट्र की जनता के लिए भी बचाकर रखिए। वे (भाजपा और शिवसेना) सतारा में हुई बारिश से हुए नुकसान पर कोई चिंता नहीं है। वे सभी ५०-५० की बात कर रहे हैं। यह किस तरह का 'सबका साथ सबका विकास' है?'






वहीं, शिवसेना के सांसद संजय राउत ने शनिवार को कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद के लिए उनकी पार्टी की मांग उचित है और भाजपा से साथ सत्ता साझा करने का आधार जीती गई सीटों की संख्या नहीं, बल्कि चुनाव से पहले हुआ समझौता होना चाहिए। राउत ने एक समाचार चैनल से कहा, 'सरकार का गठन (चुनाव से पहले भाजपा और शिवसेना के बीच) पहले बनी सहमति के आधार पर होना चाहिए। यह इस आधार पर नहीं होना चाहिए कि सबसे बड़ा एकल दल कौन सा है।'राज्यसभा के सदस्य राउत ने कहा, 'शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने किसी शिव सैनिक (शिवसेना के सदस्य) को मुख्यमंत्री बनाने का संकल्प लिया था और अब इसका समय आ गया है। शिवसेना केंद्र एवं राज्य स्तर पर मंत्रालय या अतिरिक्त विधानपरिषद सीट दिए जाने से आगे बढ़ गई है। हम मुख्यमंत्री पद की बात कर रहे हैं।'



Popular posts
अयोध्या में बड़ा हादसा टला , हेलीकॉप्टर की हुई इमरजेंसी लैंडिंग व पायलट की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा.
उत्तरप्रदेश के सीनियर आईएएस अफसरों के लिए खुशी की खबर..
बस्ती जिले में मुख्यमंत्री पर अभद्र टिप्पणी करने पर पूर्व मंत्री के बेटे पर मुकदमा दर्ज..
महंगा पड़ सकता हैं ऑनलाइन डेस्क, सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज फारवर्ड करने पर ,१७ नवम्बर को सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले का इन्तजार पूरे देश को।
Image
महामूर्ख मत बनो इस संक्रमण से मर जाओगे लापरवाही मत बरसो बार-बार अपील कर रहे हैं माननीय प्रधानमंत्री जी अपने घरों में रहकर अपनी सुरक्षा स्वयं करें और देश को भी सुरक्षित रखें.