महिला उसे पुलिस अफसर समझ कर जाती थी होटलों में, दोनों बनाते थे सम्बन्ध, लेकिन अब।

उसे पुलिस अफसर समझ महिला जाती थी होटलों में, दोनो बनाते थे सम्बंध, लेकिन अब




अपराध युवती के अनुसार आरोपी ने खुद को थानेदार (पुलिस अफसर) बताया था, इसलिए वह उसके बुलाने पर रात में मिलने पहुंची और कार से दूसरे शहर जाकर होटल में रुकी भी, जहां पहली बार दोनों के सम्बंध बने।



दोस्ती, फरेब, दुष्कर्म और अंधी आधुनिकता की यह दास्तान है मध्य प्रदेश की व्यवसायिक राजधानी इंदौर की युवती और चम्बलांचल के मुरैना के युवक की। इंदौर के विजय नगर थाना पुलिस ने एक 28 वर्षीय युवती की शिकायत पर उसके परिचित युवक पर दुष्कर्म और ब्लैकमेलिंग का केस दर्ज किया है।युवती के अनुसार आरोपित ने खुद को थानेदार बताकर सोशल मीडिया पर युवती से दोस्ती की थी। आरोपी द्वारा शादी का वादा करने के चलते वह दोनों अलग-अलग होटलों में जाकर शारीरिक संबंध भी बनाते रहे।इस दौरान युवती के अश्लील वीडियो बनाकर उससे लाखों रुपए भी ऐंठ लिए। शादी के लिए कहा तो आरोपित ने इनकार कर दिया और अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी दी।विजय नगर टीआई तहजीब काजी के मुताबिक तुकोगंज थाना क्षेत्र में मामा के पास रहने वाली युवती ने बताया कि दो वर्ष पूर्व मोनू उर्फ मुकेश पचौरिया से फेसबुक के माध्यम से दोस्ती हुई थी। युवती के अनुसार मोनू ने उससे कहा था कि वह मुरैना का रहने वाला है और भोपाल में थानेदार है।आरोप है कि, उसने नौकरी लगाने का प्रलोभन दिया और वाट्सएप व फेसबुक मैसेंजर पर बातें करता रहा। 2 जून 2018 को उसने कहा कि परदेशीपुरा थाने में काम होने से वह इंदौर आएगा। देर रात वह कार से इंदौर आया और पीड़िता को मिलने बुलाया। वहां से उसे उज्जैन ले गया और नानाखेड़ा स्थित एक होटल में ठहरा। चाय में कोई नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया और शारीरिक संबंध बना लिए।दूसरे दिन शाम को कलेक्टोरेट में काम का बोलकर मालवा मिल पर छोड़कर चला गया। 10 दिन बाद उसने इंदौर पोस्टिंग का बोला और रिश्वत के लिए 10 हजार रुपए खाते में जमा करवा लिए। कुछ दिनों बाद उसने कहा कि सस्पेंड होने के कारण उसकी सैलरी रुक गई है।ऐसा कहकर उसने युवती से 25 हजार रुपए और जमा करवा लिए। इसके बाद पारिवारिक समस्या का बोल एक बार 19 और एक बार 20 हजार रुपए भी ले लिए। उसने पीड़िता के भाई को नौकरी का झांसा दिया और पिता से भी रुपए ऐंठ लिए।पीड़िता ने पहले तुकोगंज थाने में शिकायत की थी। पुलिस ने शून्य पर केस दर्ज कर नानाखेड़ा उज्जैन को डायरी भेज दी, लेकिन नानाखेड़ा पुलिस ने घटनास्थल विजय नगर थाना क्षेत्र का बताया और विजय नगर थाने को जांच सौंप दी।                कहानी में कई पेंच:


खबर है कि, पुलिस को कथित पीड़ित युवती की इस कहानी में कई पेंच नजर आ रहे हैं, मसलन उसके मांगने पर युवती ने रकम बैंक द्वारा भेजी जबकि, ब्लैकमेलर नकद लेना ही पसंद करते हैं। युवती बार बार होटलों में रुकी, दोनों ने सम्बंध बनाए तो दुष्कर्म कैसे हुआ।