रक्षा मंत्रालय की समिति में शामिल करना दुर्भाग्यपूर्ण प्रज्ञा ठाकुर को - पीसी।


 मालेगांव धमाके में आरोपी और बापू के हत्यारे को राष्ट्रभक्त कहने वाली भोपाल की सांसद प्रज्ञा ठाकुर को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता वाली रक्षा मामलों पर बनी 21 सदस्यीय संसदीय सलाहकार समिति में भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर को नामित किये जाने पर कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधते हुए इसे 'देश की सेना का अपमान' बताया है.





मीडिया वाले बेईमान हैं ; भाजपा सांसद का बयान कांग्रेस ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए लिखा है- 'आतंकी मामलों की आरोपी और गोडसे की दीवानी प्रज्ञा ठाकुर को भाजपा सरकार ने रक्षा मामलों की संसदीय समिति में शामिल किया है. यह हमारे देश की सेना, हमारे देश की प्रतिष्ठित संसद और हर भारतीय का अपमान है.।'जन सम्पर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि भाजपा की करनी और कथनी में यही फर्क है, एक अपराधी को रक्षा समिति में लेना दुर्भाग्यपूर्ण है.


साध्वी ने साबित कर दिया- मूर्ख है भारत की जनता मालूम हो कि, 2008 के मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपी प्रज्ञा ठाकुर जमानत पर जेल से बाहर हैं. ठाकुर के खराब स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए जमानत मिली है. इस बीच वह मुस्लिम बाहुल्य मानी जाने वाली भोपाल संसदीय सीट से लोकसभा भी पहुंच गईं.


जावेद अख्तर का प्रज्ञा पर तंज- श्राप से अफसर शहीद हो सकता है तो किसी आतंकी पर इस्तेमाल क्यों नहीं करतीं


सलाहकार समिति का निर्णय संसदीय कार्य मंत्रालय द्वारा किया जाता है न कि संसद द्वारा. यह समिति किसी भी मामले में केवल सलाह दे सकती है, इसकी सिफारिशें मानना बाध्य नहीं होता. लेकिन सामान्यक: माना जाता है कि, अफसर इसकी सिफारिश न मानकर सत्ताधारी दल के नेताओं को नाराज नहीं करते.


बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने जड़े प्रज्ञा ठाकुर पर कई गंभीर आरोप, तंज भी कसे और मोदी को भी लपेटा


31 अक्टूबर की अधिसूचना के अनुसार, समिति के अन्य सदस्यों में नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला भी शामिल हैं. अब्दुल्ला को अगस्त में अनुच्छेद 370 पर केंद्र के फैसले के बाद से जम्मू और कश्मीर के श्रीनगर में उनके निवास पर हिरासत में लिया गया था और बाद में उन पर पब्लिक सेफ्टी एक्ट लगाया गया था.


प्रज्ञा ने गोड़से को बताया देशभक्त, बीजेपी बोली माफी मांगो तो फिर पलटी बयान से


बता दें कि, प्रज्ञा ठाकुर लोकसभा चुनाव से ही लगातार विवादास्पद बयानों की वजह से चर्चा में हैं. जुलाई महीने में उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा था कि वह नाले साफ करने के लिए नहीं चुनी गई हैं. महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को “देशभक्त” बताया था. सुषमा स्वराज, अरुण जेटली जैसे नेताओं के निधन पर उन्होंने कहा था- लगता है कांग्रेस मारक मंत्र का अनुष्ठान कर रही है.


Conract : kalam the great news




Popular posts
शिक्षा किसी धर्म सम्प्रदाय की एकलौती वरासत नहीं है , मास्टर फिरोज जी अगर संस्कृत पढ़ायेंगे तो वह फारसी के शब्द बोलेगा।
Image
क्या झारखण्ड चुनावों से गायब मोबलीचिंग की घटनाओं पर तारिक आज़मी की मोरबतियां - चार दिन चर्चा उठेंगी डेमोक्रेसी ।
Image
प्रात: स्मरणीय व कल्याणकारी अत्यंत शुभ मंत्रों और उनके अर्थों के साथ जयशंकर यादव की तरफ से सुभप्रभात।
रजनीकांत की पॉलिटिक्स में एंट्री , अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में..
Image
करवा चौथ का व्रत पत्नी और भाभी मां के परिवार साथ संपन्न हुआ , व्रत के बाद इन चीजों का किया सेवन..
Image