सांभर झील जयपुर में हजारों प्रवासी पंक्षियो की मौत की वजह सामने आ गई , जाने लैब पुष्टि में क्या किया गया।





राजस्थान के जयपुर में मौजूद सांभर झील में बीते दिनों हजारों प्रवासी पक्षियों की मौत की वजह सामने आ गई है। सरकारी लैब रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि सभी पक्षियों की मौत 'बोटुलिज्म' की वजह से हुई है। गहलोत सरकार ने भी इसकी पुष्टि की है। बरेली स्थित सरकारी लैब की रिपोर्ट में सामने आया कि प्रवासी पक्षियों इस वजह से मौत हुई है। इसके पूर्व भी बीकानेर से आई रिपोर्ट में भी पक्षियों की इतनी बड़ी संख्या में हुई मौत के पीछे 'बोटुलिज्म' को संभावित वजह बताया गया था। वहीं बरेली के इंडियन वेटेनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट से आई रिपोर्ट से इस पर मुहर लग गई है। बता दें कि सांभर झील जयपुर से 60 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।




यह होता है बोटुलिज्म


सांभर झील में हजारों प्रवासी पक्षियों की मौत के पीछे की वजह 'बोटुलिज्म' को बताया गया है। यह एक तरह की फूड पायजनिंग होती है। जिसमें शरीर में बोटुलिन पहुंच जाता है जो सेंट्रल नर्वस सिस्टम  को बुरी तरह से प्रभावित कर देता है।बता दें कि सांभर झील में 15 हजार से ज्यादा प्रवासी पक्षियों की अचानक मौत हो गई थी। इससे राज्य सरकार सकते में आ गई थी। पक्षियों की मौत आखिर किस वजह से हुई इसके लिए अलग अलग लैबों में जांच के लिए सैंपल भेजे गए थे। हर साल सर्दियों में हजारों प्रवासी पक्षी सांभर झील को अपना ठिकाना बनाने के लिए आते हैं।


CM गहलोत ने कही यह बात :-सांभर झील में हुई प्रवासी पक्षियों की मौत के मामले में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि ' सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का असर अब दिखाई देने लगा है। बीकानेर और बरेली की लैब से मिली रिपोर्ट से पक्षियों की मौत की वजह की पुष्टि हो गई है। भविष्य में भी जांच जारी रहना चाहिए। मैं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को भी इस मामले में पत्र लिख चुका हूं।'



Popular posts
शिक्षा किसी धर्म सम्प्रदाय की एकलौती वरासत नहीं है , मास्टर फिरोज जी अगर संस्कृत पढ़ायेंगे तो वह फारसी के शब्द बोलेगा।
Image
प्रात: स्मरणीय व कल्याणकारी अत्यंत शुभ मंत्रों और उनके अर्थों के साथ जयशंकर यादव की तरफ से सुभप्रभात।
क्या झारखण्ड चुनावों से गायब मोबलीचिंग की घटनाओं पर तारिक आज़मी की मोरबतियां - चार दिन चर्चा उठेंगी डेमोक्रेसी ।
Image
रजनीकांत की पॉलिटिक्स में एंट्री , अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में..
Image
करवा चौथ का व्रत पत्नी और भाभी मां के परिवार साथ संपन्न हुआ , व्रत के बाद इन चीजों का किया सेवन..
Image