शादी सुदा प्रेमिका का कुंवारा प्रेमी, पुराने फिल्म की एक गीत बहुत मशहूर है- तू अगर मेरा नहीं तो किसी और का न होने दूंगी।

 



तू अगर मेरा नहीं तो किसी और का न रहने दूंगी; प्रेमी ने कर लिया विवाह, तो शादीशुदा प्रेमिका ने किया यह किसी पुरानी फिल्म का एक गीत काफी मशहूर रहा है- “तुम अगर मेरी नहीं तो कोई बात नहीं, गर किसी और की होगी तो मुश्किल होगी“। ऐसा भावना तो शायद हर प्रेमी युगल और दम्पत्ति अपने साथी से रखता है।लेकिन ऐसा तो शायद फिल्मों में ही देखना को मिल सकता है कि, किसी शादीशुदा महिला का कुंवारा प्रेमी अगर किसी से विवाह कर ले तो प्रेमिका कहे- “तू अगर मेरा नहीं रहेगा, तो किसी और का भी न रहने दूंगी”। इतना ही नहीं, ऐसा कहकर वह अपने प्रेमी का खून करने का ही मन बना ले।लेकिन यूपी के फतेहपुर सीकरी में कत्ल की वारदात में ऐसी ही कहानी सामने आई है। खबर है कि, यहां कारवां सराय स्मारक के पास 30 सितंबर को पुलिस को एक युवक का शव मिला था।जांच में सामने आया कि, कहीं और हत्या कर उसका शव यहां फेंका गया था। शव की पहचान बंटी उर्फ अफजल पुत्र असगर अली निवासी मुक्तसर बठिंडा पंजाब के रूप में हुई।पुलिस को जांच में पता चला कि मृतक अफजल के संबंध काफी समय से पड़ोस में रहने वाली राजरानी पत्नी नत्थू सिंह से थे। राजरानी नत्थू को छोड़ अफजल के साथ घर बसाना चाहती थी।लेकिन कुछ साल पहले अफजल का निकाह किसी दूसरी लड़की से हो गया। इससे राजरानी खफा हो गई, और उसने अफजल को ही मिटाने का निश्चय कर लिया।योजना बनाकर राजरानी ने कुछ अन्य लोगों से सम्बंध बना लिए। जब उसे विश्वास हो गया कि, वे उसकी बात नहीं टाल सकते, तब उसने अफजल को मारने को कहा। इसके बाद 29 सितंबर को उन सबने मिलकर उसे मार डाला।हत्या की इस वारदात का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने राजरानी और उसके चार कथित आशिकों समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक अवैध संबंधों में महिला ने यह हत्या करवाई है।





Contact :: RapazNews  


◊वाट्सएप पर 




Popular posts
अयोध्या में बड़ा हादसा टला , हेलीकॉप्टर की हुई इमरजेंसी लैंडिंग व पायलट की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा.
उत्तरप्रदेश के सीनियर आईएएस अफसरों के लिए खुशी की खबर..
बस्ती जिले में मुख्यमंत्री पर अभद्र टिप्पणी करने पर पूर्व मंत्री के बेटे पर मुकदमा दर्ज..
महंगा पड़ सकता हैं ऑनलाइन डेस्क, सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज फारवर्ड करने पर ,१७ नवम्बर को सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले का इन्तजार पूरे देश को।
Image
महामूर्ख मत बनो इस संक्रमण से मर जाओगे लापरवाही मत बरसो बार-बार अपील कर रहे हैं माननीय प्रधानमंत्री जी अपने घरों में रहकर अपनी सुरक्षा स्वयं करें और देश को भी सुरक्षित रखें.