शनिवार को फूटा अन्न दाता का गुस्सा , शासन प्राशासन पर भारी पड़ रहें प्रधान जी गोशाला में बंद - अन्न मवेशियों को खेत में छुड़वा देते हैं।




फूट पड़ा किसानों का गुस्सा,लगा दिया हाइवे पर जाम


हमीरपुर में हजारों गाड़ियां फंसी, परेशान हो गया प्रशासन


अन्ना मवेशियों से किसानों की फसल बचाने के लिये शासन प्रशासन सक्रिय है। मुख्यमंत्री के आदेश पर हर जिलों में गोशाला बनवाई गईं। जिलाधिकारी से लेकर अन्य अधिकारी तक इस प्रयास में लगे हैं कि अन्ना मवेशी आवारा घूमकर किसी की फसल न चौपट कर सकें ना ही हादसे का कारण बन सकें लेकिन हमीरपुर जनपद के एक प्रधान जी शासन-प्रशासन पर भारी पड़ रहे ह । आरोप है कि अपनी फस बचाने के लिये किसान अन्ना मवेशियों को गोशाला में बंद करते हैं तो प्रधान जी इन्हें गोशाला से बाहर निकलवा देते जिससे वह फिर किसानों की फसल चट कर जाते। आरोप है कि ऐसा केवल इसलिये किया जाता है कि अन्ना मवेशियों के चारे के मद में प्रशासन अथवा अन्य लोगों से मिलने वाली मदद को अपनी सुविधाओं के मद में खर्च किया जा सके।


शनिवार को फूटा अन्नदाताओं को गुस्सा



प्रधान जी की इस मनमानी से अपनी फसल चौपट होने से परेशान किसानों का गुस्सा शनिवार को फूट पड़ा और इन लोगों ने स्टेट हाइवे में लकड़ी व बोल्डर डाल कर जाम लगा दिया गया। हाइवे पर जाम लगाए जाने से कुछ समय में ही दोनों तरफ हजारों की संख्या में गाड़ियां फंस गईं। गाड़ियों में बैठे लोग परेशान हुए तो मामला अधिकारियों तक पहुंचा तो अफसर भी परेशान हो गए क्योंकि हाइवे जाम होने के कारण आसपास के जनपदों में भी खबर पहुंच गई और पहली नजर में लोग यह ही समझने लगे कि अन्ना मवेशियों की समस्या के चलते ग्रामीणों ने हाइवे पर जाम लगा दिया। जाम लगाए ग्रामीणों का कहना था कि वह लोग अन्ना मवेशियों को गांव में बनी गोशाला में बंद करते हैं पर प्रधान द्वारा उन्हें गोशाला से फिर निकाल कर खेतो की तरफ खदेड़ दिया जाता है।


जाम खुलवाने को जूझती रही पुलिस


हाइवे पर ग्रामीणों द्वारा बोल्डर तथा अन्य सामान डालकर जाम लगाने से पुलिस को और परेशानी हुई ग्रामीण अन्ना मवेशियों से निजात मिले तथा प्रधान पर कार्रवाई की मांज पूरे हुए बगैर जाम हटाने को तैयार नहीं थे। और पुलिस हर हाल में जल्द से जल्द जाम खुलवाने के प्रयास में लगी थी।


Contact :-Kalam the great news


kalamthegreat9936@gmail.com