सिर्फ दो मिनट के अंदर लूट लिए लुटेरे, जौनपुर के सबसे सुरक्षित स्थान के ज्वेलरी शॉप, घटना विडियो में देखें।


 सिर्फ दो मिनट के अन्दर लूट लिया जौनपुर के सबसे सुरक्षित इलाके से ज्वेलरी शॉप, एक करोड़ से अधिक के लूट का अनुमान





जौनपुर. प्रदेश में अपराध और अपराधियों के खिलाफ भले उत्तर प्रदेश पुलिस मुखिया ओपी सिंह की एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिस अभियान चलाती रहे, मगर अपराधी रोज़ बा रोज़ घटनाओ को अंजाम देते जा रहे है. इसी क्रम में कल बृहस्पतिवार को रात में जौनपुर के सबसे सुरक्षित इलाका माना जाने वाला क्षेत्र एक दुस्साहसिक लूट का गवाह बन बैठा. बदमाशों ने बेहद दुस्साहसिक अंदाज में लूटपाट की। शहर के अति सुरक्षित माने जाने वाले कलक्ट्रेट और एसपी कार्यालय के पास स्थित श्री महालक्ष्मी ज्वेलर्स के शोरूम पर धावा बोल दिया। रात करीब 9 बजे तीन बाइकों से पहुंचे आधा दर्जन लुटेरों ने शोरूम से करीब एक करोड़ की ज्वेलरी लूट ली। जाते जाते दिन भर की बिक्री का करीब ढाई से तीन लाख रुपया भी लूट ले गए। पूरी घटना सीसीटीवी में भी कैद हो गई है। बदमाश अपने साथ असलहे और बैग के साथ राड भी लेकर पहुंचे थे।


Video Player





 




शोरूम में घुसते ही एक बदमाश ने बाहर लगे कैमरे को राड से तोड़ने की कोशिश की। फिर अंदर घुसते ही सबसे पहले दुकान मालिक सुरेश को गोली मारने की धमकी दी और उनके सिर पर मुठिया से मारकर घायल कर दिया। इसके बाद तीन बदमाश काउंटरों में रखी ज्वेलरी समेटने लगे। दो बदमाशों ने तिजोरी खुलवाई और उसमें रखे गहने अपने बैग में भरने लगे। दहशत का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि तिजोरी खोलने वाला कर्मचारी खुद एक एककर आभूषण के डिब्बे बदमाशों को देता रहा और बदमाश उसे अपने बैग में भरते रहे। करीब एक मिनट में ही बदमाशों ने एक करोड़ रुपये का माल समेट लिया। बैग भरने के बाद तीन बदमाश बाहर जाने लगे तो पीछे बिना बैग वाले बदमाश कुछ ज्वेलरी अपनी जेबों में भी भरते दिखाई दे रहे हैं।





घटना के सम्बन्ध में प्राप्त जानकारी के अनुसार बदलापुर पड़ाव निवासी सुरेश कुमार सेठ की ठीक कलेक्ट्रेट गेट के पास श्री महालक्ष्मी ज्वेलर्स के नाम से आभूषणों का शोरूम है। रोज की तरह लगभग नौ बजे दुकान समेटने की तैयारी चल रही थी। दुकान में सुरेश, उनका बेटा ऋतिक और अन्य कर्मचारी घर जाने की तैयारी कर रहे थे। इसी बीच एक-एक कर आठ बदमाश हाथ में असलहा और कुछ बैग लिये दुकान में घुस गए। घुसते ही सभी को असलहे से धमकाया और काउंटरों में रखा आभूषण बैग में रखने को कहा। सुरेश ने विरोध करने की कोशिश की तो पहले गोली मारने की धमकी दी फिर मुठिया से मारकर घायल कर दिया।


बदमाशों का दुस्साहस देख सभी सहम गए। इससे कर्मचारियों की मदद से ही बदमाश आसानी से काउंटर के अंदर ट्रे में सजे आभूषण बैग में भरने लगे। कई काउंटर खाली करते ही सभी बदमाश बाहर निकले और हवाई फायरिंग करते हुए वाराणसी की तरफ भाग निकले। गोली की आवाज सुनकर जुटे लोगों को घटना की जानकारी हुई तो हड़कंप मच गया। कुछ देर में ही पुलिस अधीक्षक रविशंकर छबि समेत पूरा प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंच गया। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देख बदमाशों का सुराग लगाने की कोशिश शुरू कर दी। शोरूम मालिक के अनुसार बदमाशों के हाथ सोने और चांदी के जवरातों के साथ ही हीरे के कई जेवरात लगे हैं। इनकी कीमत करीब एक करोड़ रुपये बताई जा रही है।


अब देखना होगा कि जौनपुर पुलिस इस मामले का खुलासा कब तक कर पाती है और लूट में गये जेवरो और नगद कितना बरामद कर पाती है। वैसे जिले के सबसे सुरक्षित इलाके में सिर्फ दो मिनट और इतनी बड़ी दुस्साहसिक लूट के वारदात के बाद जिले में दहशत का माहोल है।