उद्धव ठाकरे के खिलाफ थाने पहुंचा वोटर , कहा हिंदुत्व के नाम पर वोट लेकर चीटिंग।


औरंगाबाद के रहने वाले रत्नाकर चौरे का आरोप है कि शिवसेना ने उनके साथ धोखा किया है. चौरे का कहना है कि चुनाव के दौरान शिवसेना विधायक प्रदीप जायसवाल, पूर्व सांसद चंद्रकांत खैरे और उद्धव ठाकरे ने सभा के दौरान उनसे वोट मांगे थे. उन्होंने शिवसेना विधायक को वोट किया, लेकिन अब वह ठगा सा महसूस कर रहा है.


आदित्य के साथ उद्धव ठाकरे (फोटो-pTI)



  • बीजेपी-शिवसेना को एक मानते हुए शिवसेना विधायक को दिया वोट

  • कांग्रेस-एनसपीसी के साथ शिवसेना के सरकार बनाने से वोटर नाराज


महाराष्ट्र में अभी कुछ दिन पहले संपन्न हुए विधानसभा चुनाव को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी)-शिवसेना ने साथ मिलकर लड़ा था. मतदाताओं ने चुनाव में दोनों दलों को संयुक्त रूप से वोट दिया था. लेकिन 24 अक्टूबर को नतीजे आने के बाद मुख्यमंत्री के पद को लेकर दोनों पार्टियां एक दूसरे से अलग हो गईं.


अब शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने की तैयारी कर रही है. शिवसेना के इस फैसले से औरंगाबाद का एक वोटर बहुत नाराज है. वह शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के खिलाफ केस दर्ज कराने गुरुवार को पुलिस स्टेशन पहुंच गया. उद्धव ठाकरे के खिलाफ औरंगाबाद के बेगमपुरा पुलिस ठाणे में शिकायत दर्ज करा दी है.


औरंगाबाद के रहने वाले रत्नाकर चौरे का आरोप है कि शिवसेना ने उनके और उनके परिवार के वोट के साथ धोखा किया. चौरे के मुताबिक चुनाव के दौरान शिवसेना विधायक प्रदीप जायसवाल, पूर्व सांसद चंद्रकांत खैरे और उद्धव ठाकरे ने सभा के दौरान उनसे वोट मांगे थे. दोनों पार्टियों (बीजेपी-शिवसेना) को एक मानते हुए न सिर्फ खुद शिवसेना के विधायक को वोट किया बल्कि परिवार के अन्य लोगों का वोट भी उन्हें दिलवाया. अब वह ठगा सा महसूस कर रहा है.


रत्नाकर चौरे ने विधानसभा चुनाव में हिंदुत्व के नाम पर वोट लेकर धोखाधड़ी देने का आरोप है. उसका कहना है कि चुनाव में हिंदुत्व के मुद्दे पर उद्धव ठाकरे, शिवसेना के पूर्व सांसद चंद्रकांत खैरे और प्रदीप जायसवाल ने वोट मांगे थे. शिवसेना और बीजेपी के गठबंधन को देखते हुए रत्नाकर चौरे ने वोट दिया था.



मेरे वोट के साथ चीटिंग- वोटर :-चुनाव में जीत के बाद शिवसेना बीजेपी गठबंधन की सरकार न बनाने की वजह से चौरे ने बेगमपुरा पुलिस में शिकायत दी है. बेगमपुरा पुलिस ने रत्नाकर चौरे की शिकायत एप्लीकेशन को कमिश्नर ऑफिस स्पेशल ब्रांच पुलिस को भेजा है.....लिखित शिकायत में रत्नाकर चौरे ने यह भी कहा, 'चुनाव के दौरान उद्धव ठाकरे, चंद्रकांत खैरे और प्रदीप जायसवाल ने हिंदुत्व की रक्षा के लिए बीजेपी-शिवसेना गठबंधन की सरकार बनाने के नाम पर वोट मांगा. लेकिन, चुनाव नतीजों के बाद अब शिवसेना प्रतिद्वंदी पार्टियों के साथ सरकार बनाने की कोशिश कर रही है. यह मेरे और मेरे परिवार के वोट के साथ चीटिंग है.'





Popular posts
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया बड़ा निर्देश, यूपी में प्रवेश करते ही कामगार व श्रमिकों खास ध्यान रखा जाए ..
तमिलनाडु के कोयंबटूर में भारी बारिश में दिवार गिरने से १५ लोगों की मौत , सरकार की तरफ से सभी लोगों को ४ लाख रुपए का मुआवजा ।
Image
पश्चिमी दिल्ली के नारायणा इलाके में दो बसों में आमने-सामने की टक्कर से स्कूल बस पलट गई 6 स्कूली बच्चे हुए घायल ,
लखनऊ के एक दरोगा ने मान्यता प्राप्त प्रत्रकार को जेल भेजने की थी धमकीं।
उत्तर प्रदेश लॉक डाउन 5 , शहर के चप्पे-चप्पे पर होगा पुलिस का पहरा, जानिए क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद..