हैदराबाद रेप केस - ओवैसी ने पुलिस कार्यवाही पर उठाया सवाल , कहा पूरे मामले की जांच होनी चाहिए....

ओवैसी ने कहा कि अभी पूरे मामले के बारे में सुना है। सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार हर मुठभेड़ की जांच की जानी चाहिए। इस मामले में राज्य सरकार बहुत सक्रिय थी।






नई दिल्ली। आज से 10 दिन पहले हैदराबाद से एक ऐसा केस सामने आया था जिसने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था। एक लेडी डॉक्टर के साथ चार लोगों ने पहले तो बालात्कार किया और फिर लेडी डॉक्टर को जलाकर भाग गए थे। इसके बाद कार्रवाई तेज करते हुए तेलंगाना पुलिस ने चारों मुख्य आरोपियों को अपने गिरफ्त में ले लिया था। इसके बाद आज सुबह खबर आई कि, चारों आरोपियों को पुलिस के साथ मुठभेड़ में मार गिराया गया है।



दरअसल, पुलिस चारों को उसी इलाके पर लेकर गई थी जहां उन्होंने जघन्य अपराध को अंजाम दिया था। पुलिस आरोपियों के साथ उस सीन को रिक्रिएट करने गई थी। पुलिस के मुताबिक, जब पुलिस अपनी कार्रवाई कर रही थी, तो चारों आरोपियों ने भागने की कोशिश की और पुलिस के बंदूक भी छीनने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस को मजबूरन गोली चलानी पड़ी और चारों आरोपियों को वहीं मार गिराया।


पुलिस की इस कार्रवाई के बाद पूरे देश में जहां जश्न का माहौल है और हर तरफ लोग इंसाफ मिलने की बात कर रहे हैं, तो वहीं ऑल इंडिया मजलीस-ए-मुस्लिमीन के अध्यक्ष असद्दुदीन ओवैसी ने पुलिस की इस कार्रवाई पर सवाल खड़े कर दिए हैं।उन्होंने कहा कि, तेलंगाना सरकार इस मामले पर काफी ज्यादा सक्रिय थी। ओवैसी ने कहा कि अभी पूरे मामले के बारे में सुना है। सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार हर मुठभेड़ की जांच की जानी चाहिए। इस मामले में राज्य सरकार बहुत सक्रिय थी।



उन्होंने मुख्यमंत्री के बयान का जिक्र करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने कहा था कि ये लोग जानवर बन गए हैं। हमें शार्ट टर्म उपाय नहीं करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा था कि हमें महिला सुरक्षा के लिए अनुकूल माहौल बनाने की जरूरत है। बता दें कि मुख्यमंत्री के इस बयान के बाद अगली ही सुबह आरोपियों को एनकाउंटर में ढेर कर दिए जाने की खबर आ गई।


 



 



Popular posts
इंदौर न्यायालय द्वारा दिया गया एक निर्णय , संतान की सजा माता पिता को मिलती हैं जैने कैसे....
कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रदेश स्तर पर सतर्कता रखी जाए , पर्यटन स्थलों वाले सभी जनपद एयरपोर्ट पर विशेष निगरानी की जाए , अस्वस्थ पयर्टन का विवरण तत्काल जिला प्रशासन को उपलब्ध कराया जाए.
जालसाजों को बचाने में माहिर हैं उत्तर प्रदेश के मुख्य सूचना आयुक्त जावेद उस्मानी ......
लखनऊ नगर निगम सफाई कर्मी ने नशे की हालत में थाने में मचाया उत्पात..
उत्तर प्रदेश सीएम योगी के सख्त निर्देश के बाद आबकारी विभाग ने की बड़ी कार्रवाई.