हैदराबाद रेपिस्ट मामलों की केस कोई भी वकील नहीं लड़ेगा , वकीलों का बड़ा निर्णय समाज के लिए।


हैदराबाद के रेप काण्ड के बाद


सालों पुराने निर्भया कांड की खौफनाक यादें फिर से ताजा तब हो गई जब हैदराबाद में एक महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ गैंगरेप की घटना सामने आयी. तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में एक २७ वर्षिय महिला डॉक्टर को गैगरेप के बाद जलाकर मार दिया गया. पुलिस ने इस मामले में ४ लोगों को अब तक गिरफ्तार किया है. वही, उक्त मामले के आरोपियों का केस लड़ने से सभी वकिलों ने साफ तौर पर इंकार कर दिया है ।

उक्त मामले में पुलिस ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिये बताया कि कैसे महिला डॉक्टर को मारा गया. पहले जब पुलिस को घटना का पता चला तो सिर्फ अंदाजा लगाया जा रहा था कि महिला के साथ बलात्कार हुआ है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने युवती के साथ पहले गैंगरेप किया और बाद में गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी और शव को पेट्रोल डालकर जला दिया. पुलिस के मुताबिक आरोपियों की पहचान मोहम्मद आरिफ, नवीन, चिंताकुंता केशावुलु और शिवा के रूप में हुई है. पुलिस ने इस बात की भी पुष्टि की है कि आरोपियों ने अपराध को अंजाम देने के दौरान शराब पी रखी थी. इस घटना का मुख्य आरोपी आरिफ है ।

पुलिस ने बताया कि चारों लड़के टोल प्लाजा पर खड़े थे. उसी दौरान दरिंदों ने डॉक्टर को पार्किंग के पास देखा था और फिर शराब पीते हुए गैंगरेप का प्लान बनाया. नवीन नाम के लड़के ने महिला डॉक्टर की स्कूटी को पंक्चर कर दिया था. रात ९.१८ बजे के करीब महिला डॉक्टर अपनी स्कूटी लेने पहुंचीं. लेकिन गाड़ी पंक्चर थी तो आरिफ ने मदद करने के लिए हाथ बढ़ाया. शिवा नाम का लड़का स्कूटी लेकर गया और बताया कि दुकान बंद हो चुकी है ।

इसके बाद इन दरिंदों ने महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप किया. पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने घटना को अंजाम देते हुए लड़की के मुंह और नाक को कसकर दबा रखा ताकि बाहर आवाज न जा सके और इसकी वजह से दम घूटने से लड़की की मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि गैंगरेप और लड़की हत्या के बाद आरोपियों ने पेट्रोल खरीदा और फिर जला दिया.

बता दें कि गुरुवार सुबह हैदराबाद-बेंगलुरु हाइवे पर एक अधजली लाश मिली थी. लाश मिलने के बाद माना जा रहा था कि २६ साल की महिला डॉक्टार के साथ रेप के बाद उसकी हत्याह कर दी गई ।

 

सम्पर्क सूत्र :- कलाम द ग्रेट न्यूज़



Popular posts
इंदौर न्यायालय द्वारा दिया गया एक निर्णय , संतान की सजा माता पिता को मिलती हैं जैने कैसे....
कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रदेश स्तर पर सतर्कता रखी जाए , पर्यटन स्थलों वाले सभी जनपद एयरपोर्ट पर विशेष निगरानी की जाए , अस्वस्थ पयर्टन का विवरण तत्काल जिला प्रशासन को उपलब्ध कराया जाए.
जालसाजों को बचाने में माहिर हैं उत्तर प्रदेश के मुख्य सूचना आयुक्त जावेद उस्मानी ......
लखनऊ नगर निगम सफाई कर्मी ने नशे की हालत में थाने में मचाया उत्पात..
उत्तर प्रदेश सीएम योगी के सख्त निर्देश के बाद आबकारी विभाग ने की बड़ी कार्रवाई.