राज्यपाल जगदीप धनकर ने विधानसभा के बाहर दिया धरना , पश्चिम बंगाल के ममता बनर्जी खिलाफ।



कोलकाता :-पश्चिम बंगाल में राजभवन और ममता  सरकार के बीच तनातनी का दौर जारी है. एक ओर सरकार का आरोप है कि वह विधेयकों पर दस्तखत नहीं कर रहे तो वहीं राज्यपाल जगदीप धनकर ने कहा है कि वह रबर स्टाम्प नहीं हैं.  पश्चिम बंगाल में राज्यपाल जगदीप धनकर 'धरने' पर बैठे थे. उन्होंने ममता सरकार के खिलाफ आरोप लगाया. धनकर ने कहा ममता  सरकार में उनकी सुनी नहीं जा रही है. कलाम द ग्रेट न्यूज़ के अनुसार गुरुवार को राज्यपाल जब विधानसभा पहुंचे तो वहां कोई नहीं था. वह वहां की लाइब्रेरी का जायजा लेना चाहते थे लेकिन सत्र ना होने के कारण यह बंद थी ।उन्होंने कहा, 'मैं यहां इसलिए पहुंचा हूं ताकि यहां की ऐतिहासिक इमारत देख सकूं और लाइब्रेरी जा सकूं. विधानसभा का सत्र नहीं चल रहा इसका मतलब यह नहीं है कि विधानसभा बंद है. सचिवालय खुला हुआ है.' गेट नंबर 1 पर धरना दे रहे राज्यपाल कुछ देर बाद  गेट नंबर 2 से विधानसभा के भीतर गए.कलकत्ता विश्वविद्यालय गए तब भी कोई नहीं मिला । इससे पहले बुधवार को जब राज्यपाल कलकत्ता विश्वविद्यालय गए तो वहां भी ना तो वाइस चांसलर थे, ना उप कुलपति थे और ना ही रजिस्ट्रार. वह कुछ देर तक  वीसी के दफ्तर के बाहर बैठे रहे थे ।बीते दिनों कुछ विधेयकों पर दस्तखत को लेकर ममता सरकार से राजभवन की तनातनी चल रही है. एक ओर जहां तृणमूल कांग्रेस का आरोप है कि राज्यपाल, एक पार्टी के एजेंट के तौर पर काम करते हुए विधेयकों पर दस्तखत नहीं कर रहे हैं तो वहीं राजभवन का कहना है कि वे रबर स्टाम्प राज्यपाल नहीं हैं.




सम्पर्क सूत्र :- कलाम द ग्रेट न्यूज़ ।



Popular posts
इंदौर न्यायालय द्वारा दिया गया एक निर्णय , संतान की सजा माता पिता को मिलती हैं जैने कैसे....
कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रदेश स्तर पर सतर्कता रखी जाए , पर्यटन स्थलों वाले सभी जनपद एयरपोर्ट पर विशेष निगरानी की जाए , अस्वस्थ पयर्टन का विवरण तत्काल जिला प्रशासन को उपलब्ध कराया जाए.
जालसाजों को बचाने में माहिर हैं उत्तर प्रदेश के मुख्य सूचना आयुक्त जावेद उस्मानी ......
लखनऊ नगर निगम सफाई कर्मी ने नशे की हालत में थाने में मचाया उत्पात..
उत्तर प्रदेश सीएम योगी के सख्त निर्देश के बाद आबकारी विभाग ने की बड़ी कार्रवाई.