उन्नाव पीड़िता के मामले को लेकर यूपी सरकार सख्त , पीड़िता को हर तरह से मदद करने को तैयार योगी सरकार दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शिफ्ट।



 उन्‍नाव दुष्‍कर्म पीड़िता को आरोपितों द्वारा आग के हवाले करने के बाद से यूपी सरकार इस मामले में काफी सख्‍त नजर आ रही है। सीएम योगी ने पीड़िता के बेहतर इलाज के लिए आदेश दिया है। इस कारण पीड़िता को लखनऊ से दिल्‍ली के सफदरजंग अस्‍पताल में शिफ्ट किया जा रहा है। इसके लिए लखनऊ पुलिस ने सिविल अस्‍पताल से अमौसी एयरपोर्ट तक ग्रीन कॉरिडोर बनाया। इसी अमौसी एयरपोर्ट से पीड़िता को हवाई मार्ग से शिफ्ट किया गया। इधर दिल्‍ली पहुंचते ही यहां भी ग्रीन कॉरिडोर बनाकर उसे अस्‍पताल पहुंचाया गया।  इस दौरान १३ किलोमीटर की दूरी १८ मिनट में तय किया गया है।यहां डॉक्‍टरों की टीम उसकी जांच कर रही है। मिली जानकारी के अनुसार पीड़िता ९० प्रतिशत तक जल चुकी है। डॉक्‍टरों की पूरी टीम उसे बेहतर इलाज देने के लिए पहले से तैयार कर ली गई थी। बता दें कि उन्‍नाव में एक और दुष्‍कर्म मामले में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का नाम सामने आने के बाद से उन्‍नाव देश भर की मीडिया की सुर्खियों में है। इस मामले में दिल्‍ली के ही तीस हजारी अदालत में सुनवाई हो रही है। इसमें अदालत में आरोपित पक्ष की तरफ से एक गवाह का बयान दर्ज हो चुका है।इस सुनवाई में अदालत ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से कहा था कि पीड़ित परिवार के घर का खर्च वहन करे। वहीं परिवार को दिल्ली महिला आयोग की मदद से दिल्‍ली में घर मिल गया है।

 


यह जानकारी पीड़िता के वकील धर्मेद्र कुमार मिश्र ने दी थी। घर खर्च के तौर पर फिलहाल १५ हजार रुपये जारी करने के लिए अदालत ने कहा है।

 

सम्पर्क सूत्र :- कलाम द ग्रेट न्यूज़



Popular posts
लखनऊ 18 अक्टूबर को नाका में हुई हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की हत्या से जुड़ा मामला, राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत की जा रही है बड़ी कार्रवाई.
नोएडा में लगातार आ रहे कोरोना वायरस पॉजिटिव संक्रमण की केस , 4 नए मामले आए सामने.
यूपी में चली तबादला एक्सप्रेस ३० सीनियर पीसीएस के ट्रांसफर , जाने इन सभी अधिकार के नाम.....
कलश स्थापना के साथ मां की अराधना में लीन हुई भोले बाबा की नगरी , उमडा श्रद्धा का सैलाब मंदिरों में भक्तों की।
दिल्ली सरकार मुख्यमंत्री केजरीवाल और उपराजपाल न प्रेस कॉन्फ्रेंस किया और आश्वासन दिया आपकी जरूरत की हर सामान पहुंचाई जाएगी यह सरकार की..