उन्नाव पीड़िता को जिंदा जलाए जाने के बाद बुरी तरह से झुलसी , हालत बेहद गंभीर बाताई जा रही है।



 उन्नाव गैंगरेप पीड़िता जिंदगी और मौत के बीच झूल रही है. ९० प्रतिशत से ज्यादा जल चुकी पीड़िता की हालत बेहद नाजुक बताई जा रही है ।





  • नई दिल्ली. जिंदा जलाए जाने के बाद बुरी तरह झुलसी उन्नाव गैंगरेप पीड़िता  जिंदगी और मौत के बीच झूल रही है. ९० प्रतिशत से ज्यादा जल चुकी पीड़िता की हालत बेहद नाजुक बताई जा रही है. लखनऊ के सिविल अस्पताल  के डॉक्टरों की राय के बाद प्रशासन ने अब उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया है. पीड़िता को यहां एयर एम्बुलेंस से लाकर एडमिट कराया गया है. जिसके लिए दिल्ली एयरपोर्ट से सफदरजंग अस्पताल तक ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया ।



बता दें इससे पहले पीड़िता को देखने के लिए गुरुवार को उसकी मां और बहन पुलिस की कड़ी सुरक्षा में सिविल अस्पताल पहुंचीं. लखनऊ के सिविल अस्पताल के निदेशक डॉक्टर डीएस नेगी ने बताया कि पीड़िता की हालत बेहद गंभीर है. उन्होंने बताया कि पीड़िता ९० फीसदी से ज्यादा जली हुई है. उन्होंने बताया कि मुलाकात के दौरान पीड़िता ने कुछ बातचीत भी की. यहां प्लास्टिक सर्जन की देखरेख में पीड़िता का इलाज हो रहा है ।


राष्ट्रीय महिला आयोग ने UP DGP को भेजा नोटिस


उधर घटना के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग  ने यूपी के डीजीपी ओपी सिंह से केस में विस्तृत रिपोर्ट तलब कर ली है. इसमें पीड़िता के केस दर्ज करवाने की तारीख से अब तक की कार्रवाई मांगी गई है. साथ ही पूछा गया है कि ये भी बताएं कि अगर साबित हुआ है तो रेप पीड़िता को सुरक्षा नहीं देने के लिए किन अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की गई है. इसके अलावा महिला आयोग ने डीजीपी से उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ पिछले ३ साल में हुए जघन्य अपराधों और उनमें दी गई जमानतों की रिपोर्ट भी तलब कर ली है. एनसीडब्ल्यू की तरफ से कहा गया है कि जल्द से जल्द रिपोर्ट भेजें ।

उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह को भेजे गए पत्र में राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने लिखा है कि महिलाओं के अधिकार सुरक्षित रखने के लिए तमाम कानून होने के बाद भी उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे अपराधों से आयोग विचलित है ।


सम्पर्क सूत्र :- कलाम द ग्रेट न्यूज़।


 





 

Popular posts
इंदौर न्यायालय द्वारा दिया गया एक निर्णय , संतान की सजा माता पिता को मिलती हैं जैने कैसे....
कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रदेश स्तर पर सतर्कता रखी जाए , पर्यटन स्थलों वाले सभी जनपद एयरपोर्ट पर विशेष निगरानी की जाए , अस्वस्थ पयर्टन का विवरण तत्काल जिला प्रशासन को उपलब्ध कराया जाए.
जालसाजों को बचाने में माहिर हैं उत्तर प्रदेश के मुख्य सूचना आयुक्त जावेद उस्मानी ......
लखनऊ नगर निगम सफाई कर्मी ने नशे की हालत में थाने में मचाया उत्पात..
उत्तर प्रदेश सीएम योगी के सख्त निर्देश के बाद आबकारी विभाग ने की बड़ी कार्रवाई.