जेएनयू के छात्रों को नकाबपोश ठगों द्वारा छात्रों और शिक्षकों को मारपीट कर छात्रों के हास्टल में घुस गये , सुरक्षा कर्मी भी गायब , पुलिस भी फोन नहीं उठाती ...


कितनी बेशर्म सरकार है, पहले फ़ीस बढ़ाती है, विद्यार्थी विरोध करें तो पुलिस से पिटवाती है और छात्र तब भी ना झुके, तो अपने गुंडे भेजकर हमला करवाती है। जब से सत्ता में आए हैं, तब से देश के हर कोने में देश के विद्यार्थियों के ख़िलाफ़ इन्होने जंग छेड़ रखी है। 


सुनो साहेब, TV से जितना झूठ फैलाना है, फैला लो!  जितना बदनाम करना है, कर लो! इतिहास यही कहेगा कि आपकी सरकार ग़रीबों के बच्चों के पढ़ने के ख़िलाफ़ थी और  देश के विद्यार्थी आपकी इस साज़िश के ख़िलाफ़ उठ खड़े हुए क्योंकि उनकी रगों में गांधी, अम्बेडकर, भगतसिंह और अश्फ़ाक का ख़ून है।


आप आज के द्रोणाचार्य तो बन गए लेकिन याद रखिए 21 वी सदी का एकलव्य आपको अपना अँगूठा नहीं देगा और सर फुडवाना और कटवाना मंज़ूर करेगा। आप हिंसा कराकर अलीगढ़ और जामिया की तरह जेएनयू को भी बंद कराना चाहते है, इस साज़िश को विद्यार्थी बख़ूबी समझते हैं।


फिर कहता हूँ, जितना दबाओगे, उतनी ज़ोर से ये दोबारा उठ खड़े होंगे और आपकी संविधान और ग़रीब-विरोधी तमाम साज़िशों को भारत के विद्यार्थी एकजुट होकर नाकाम करेंगे।


नकाबपोश ठगों द्वारा जेएनयू के छात्रों और शिक्षकों पर किया गया क्रूर हमला, जिसमें कई गंभीर रूप से घायल हो गए, चौंकाने वाला है।


हमारे राष्ट्र के नियंत्रण में फासीवादी, हमारे बहादुर छात्रों की आवाज़ से डरते हैं। जेएनयू में आज की हिंसा उसी डर का प्रतिबिंब है।


JNU में ABVP के बाहरी नक़ाबपोश गुंडे छात्रों से मारपीट कर रहे हैं। गर्ल्स हॉस्टल में गुंडे घुस गए है। सुरक्षाकर्मी ग़ायब है। पुलिस फ़ोन नहीं उठा रही। कैम्पस में आतंक का माहौल है। लगातार फ़ोन पर छात्र मदद माँग रहे है। इन भाजपाई गुंडो ने Universities में आतंक फैला दिया है।


   


        सम्पर्क सूत्र- कलाम द ग्रेट न्यूज।


मीडिया प्रभारी जय यादव।


Email - Kalamthegreat9936@gmail.com