लखनऊ शहर में सुभाष चंद्र बोस की याद में मनाई गई उनकी जयंती , नेताजी सुभाष चंद्र बोस का राजधानी लखनऊ में कई बार हुआ था आगमन ..

लखनऊ बंगीय नागरिक समाज की ओर से दो दिवसीय सुभाष चन्द्र जयंती समारोह शुरू , सुभाष चन्द्र बोस जयंती के मौके पर लखनऊ बंगीय नागरिक ...





- लखनऊ बंगीय नागरिक समाज की ओर से दो दिवसीय सुभाष चन्द्र जयंती समारोह शुरू


 लखनऊ : सुभाष चन्द्र बोस जयंती के मौके पर लखनऊ बंगीय नागरिक समाज की ओर से दो दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। कार्यक्रम के पहले दिन बुधवार को जानकीपुरम विस्तार में परिचर्चा हुई। इसमें वक्ताओं ने कहा सुभाष चन्द्र बोस का लखनऊ से गहरा नाता रहा।



कार्यक्रम में संयोजक प्रकाश कुमार दत्ता ने बताया कि नेताजी सुभाष चन्द्र बोस का कई बार लखनऊ आना हुआ। यही नहीं उनकी आजाद हिन्द फौज में लखनऊ के सुंदरबाग निवासी लेफ्टिनेंट कमांडर रहे एस के वर्धन, मकबूलगंज निवासी तारोपदो दत्ता और कैपटन राम सिंह शामिल रहे। प्रकाश कुमार दत्ता ने कहा कि उनकी मांग है कि बंगीय अकैडमी की स्थापना की जाए ताकि सुभाष चंद्र बोस जैसी हस्तियों के माध्यम से लोगों को प्रेरित किया जा सके। उन्होंने डीएम आवास के सामने स्थापित रविन्द्र प्रतिमा के पास रविन्द्र उपवन विकसित करने की भी मांग की। मानसी दत्ता ने बताया कि इस क्रम में दूसरे दिन गुरुवार को सुभाष चौराहे पर महिलाओं की खेल प्रतियोगिताएं भी होगी। इस दौरान काव्यपाठ भी होगा।


'बंगाली क्लब में हुआ था सुभाष चंद्र बोस का सम्मान'


 नेता जी सुभाष चन्द्र बोस के लखनऊ आगमन की तस्वीर आज भी हीवेट रोड स्थित बंगाली क्लब के कार्यालय में लगी है। बंगाली क्लब एवं युवक समिति अध्यक्ष अरुण बनर्जी ने बताया कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस का बंगाली क्लब में सम्मान किया गया था। उस तस्वीर में क्लब के सदस्यों के साथ सुभाष चन्द्र बोस के यादगार पल संकलित हैं। अरुण बनर्जी ने बताया कि सुभाष चन्द्र बोस का जयंती समारोह गुरुवार मनाया गया । सुभाष चंद्र बोस जी को सत सत नमन