प्रयागराज के रोशन बाग के मंसूर अली पार्क में जारी सीएए - एनआरसी का विरोध प्रदर्शन , प्रशासन का डर नहीं आंदोलनकारी के हौसले बुलंद , सिर्फ 10 महिलाओं द्वारा शुरु हुआ प्रदर्शन.


प्रयागराज पुलिस और गिरफ्तारी का डर भी नहीं डिगा पा रहा


आन्दोलनकारीयों के हौसले को सयरा द्बारा रविवार साँय तीन बजे से मात्र दस महिलाओं द्बारा एनआरसी, एनपीआर और सीएए के खिलाफ रौशन बाग़ के मंसूर अली पार्क में शुरु किए गए बेमियादी आन्दोलन ने प्रशासन को हिला कर रख दिया है।प्रदर्शन के पाँचवे दिन भी हज़ारों की संख्या में महिलाएँ ,छात्र छात्राएँ बुढ़े व नौजवान अपने हक़ कि खातिर भीषण ठण्ड को मात देते हुए धरना स्थल पर जमे रहे।लोगों का कहना है की हम नोट बन्दी बाबरी मस्जिद के फैसले पर खामोश रहे इसका मतलब नहीं है की हम इनके हर असंवैधानिक फैसले पर खमोश रहेंगे।हम अपने हिन्दुस्तान से और बाबा साहब के क़ानून से मुहब्बत करने वाले लोग हैं। हम हिन्दुस्तानी हैं हम मोदी और शाह की गीदड़ भभकी से डिगने वाले नहीं। हम यहीं दफन होंगे जहाँ हमारे पुरखे बाबा ओ अशदाद दफ्न हैं।






उम्रदराज़ व बुढ़ी औरतें तथा माँएँ अपने गोद में दुधमुहे बच्चों समेत धरना स्थल पर पाँच दिनों से डटी हुई हैं।प्रदर्शन के पाँचवें दिन प्रशासन की ओर से मंसूर अली पार्क के इर्द गिर्द भारी पुलिस लगाने और पुलिसीया खौफ पैदा करने की कवायद भी प्रदर्शनकारीयों के जज़बे के आगे नहीं टिक पाई। इलाहाबाद विश्वविद्धालय की छात्रा नेहा यादव लगातार पाँच दिनों से धरना स्थल पर डटी रह कर आन्दोलनकारीयों के हौसले को बढ़ा रही हैं।नेहा ने कहा हम न तो मोदी से डरेंगे न योगी से। हमारे देश में संविधान ने सब को बराबरी का दर्जा दिया है हम अपने हिन्दुस्तानी मुस्लिम भाई व बहनों के साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़े हैं और खड़े रहेंगे।केन्द्र सरकार को एन आर सी ,एन पी आर को वापिस लेना होगा। शिव यादव,मोहित पाण्डेय,अफजल, औन ज़ैदी,हमज़ा,ग़ुफरान खान समेत अन्य लोग प्रदर्शन स्थल पर महिलाओं के खान पान व सुरक्षा को मुस्तैद हैं। इन्के साथ मोहल्ले के लोग व तमाम छात्र छात्राएँ भी दिन रात आन्दोलनरत लोगों के साथ प्रदर्शनकारीयों का हौसला बढ़ाने के साथ व्यवस्था को सम्भाले हैं।मुस्लिम युवतियों में तिरंगे का


क्रेज़धरना स्थल पर विभिन्न कालेज की छात्र छात्राएँ भी बड़ी संख्या मे पहुँची और अपने चेहरे व नाक पर तिरंगा झण्डे को उकेर कर हिन्दुस्तान ज़िन्दाबाद का नारा बुलन्द किया।छात्राएँ एक दूसरे के चेहरे पर लाल सफेद और हरे रंग से तिरंगा बना कर एन आर सी,एन पी आर को तत्काल वापिस लेने की आवाज़ बचलन्द की।



Popular posts
शिक्षा किसी धर्म सम्प्रदाय की एकलौती वरासत नहीं है , मास्टर फिरोज जी अगर संस्कृत पढ़ायेंगे तो वह फारसी के शब्द बोलेगा।
Image
प्रात: स्मरणीय व कल्याणकारी अत्यंत शुभ मंत्रों और उनके अर्थों के साथ जयशंकर यादव की तरफ से सुभप्रभात।
क्या झारखण्ड चुनावों से गायब मोबलीचिंग की घटनाओं पर तारिक आज़मी की मोरबतियां - चार दिन चर्चा उठेंगी डेमोक्रेसी ।
Image
रजनीकांत की पॉलिटिक्स में एंट्री , अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में..
Image
करवा चौथ का व्रत पत्नी और भाभी मां के परिवार साथ संपन्न हुआ , व्रत के बाद इन चीजों का किया सेवन..
Image