कोरोना के बीच रहकर जोखिम भरा खतरा उठाने वाले इन सेवार्थइयों का सम्मान , मानव जाति की सेवा करते रहे संक्रमण के बीच में..


सम्मान इन चेहरों को देना है जो अपनी जिंदगी जोखिम में डालकर लगातार 18- 18 घंटे कोरोना पीड़ितों को बचाने के लिए आपातकालीन सेवाएं दे रहे हैं..
देश और दुनिया के डॉक्टरों ,नर्सों और स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े वीरों ने लगातार अपने खुद के जीवन को खतरे में डालकर जो मानव जाति की सेवा की है और जो अदम्य साहस दिखाया है आज इन्हें सम्मान देने का समय है..


 सुरक्षा उपकरणों को लगातार लगाए रखने के कारण इनके चेहरों की हालत देख लीजिए लेकिन इनके फौलादी हौसलों का नतीजा है कि हम जैसे व्यक्तियों का विश्वास जिंदा है -मानवता में, सच्चाई में , त्याग में ..इन सबके लिए जोर से ताली बजाते हैं.