मदर्स डे,,,,,, लबों पर उसके कभी बद्दुआ नहीं होती , बस एक मां है जो कभी खफा नहीं, पूरी होती हर दुआ जो मां मांगी होती है..


मदर्स डे,, आज सुबह से मोबाइल पर मां से रिलेटेड हजारों पोस्टें देख रहे हैं दिल बहुत खुश होता है यह देख कर कि हिंदुस्तान में अपनी मां को प्यार करने वाली कितनी औलादे है,,, सच्चाई बयान करूं काश हम फेसबुक व्हाट्सएप और सोशल मीडिया की जगह हकीकत में अपनी मां को प्यार करने लगे तो हमारा अल्लाह ईश्वर हमारी हर परेशानी को दूर करेगा.



आज हम सोशल मीडिया पर बड़ी-बड़ी बातें करते हैं हकीकत यह है हम सब अपनी बीवी को अपनी लवर और दोस्त को ना जाने कितनी बार आई लव यू बोल चुके होंगे क्या कभी मां के गले में हाथ डालकर मां को आई लव यू बोला जिनके सर पर मां का साया है वह वाकई बहुत खुशनसीब है अपनी खुशनसीबी को बरकरार रखिए कुछ लम्हे मां के लिए भी निकाल दीजिए जब तक वह जिंदा है यह समझ लीजिए कि आपका अल्लाह और आपका ईश्वर आपके साथ है अपने पर लाखों रुपए खर्च करने वाले घर  पर बैठी बूढ़ी मां चेहरे की झुर्रियों को भी देख लो जिसने 9 महीने पेट में रखकर तुम्हें पाला अपनी पूरी जिंदगी तुम्हारी जिंदगी बनाने के लिए बिता दी आज अगर उसकी कदर नहीं कर पाए, तो कल उनके जाने के बाद उनके  40 वे, और तेराही में, लाखों रुपए खर्च कर देना ऐसे ही होगा जैसे तुमने नदी में पैसा बहा दिया दोस्तों मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि क्या लिखूं बस यही कहना चाहता हूं अभी जन्नत तुम्हारे पास है जन्नत के हकदार बने अगर मां की खिदमत नहीं कर पाए तो यकीन मानो तुम्हारी सारी नेकिया, जो तुम दुनिया में अपने नाम और अपनी तारीफों के लिए करते हो वह तुम्हारे किसी काम नहीं आ पाएगी जिंदगी एक घड़ी की तरह की तरह है जो सुई आज ऊपर है कल वह नीचे होगी आज जो हम बोएगे वही कल काटेंगे ऐसा ना हो जो आज हम कर रहे हो कल वह हमारी औलादे हमारे साथ करें, आइए आज हम यह आहद करें के कुछ पल कुछ दौलत अपनी जन्नत को बनाने में लगाए, अगर हम ऐसा कर सकते हैं तभी हमको हैप्पी मदर्स डे की पोस्ट डालने का हक है.


 


Popular posts
प्रात: स्मरणीय व कल्याणकारी अत्यंत शुभ मंत्रों और उनके अर्थों के साथ जयशंकर यादव की तरफ से सुभप्रभात।
उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने दिया बहनों को तोहफा रक्षाबंधन पर बस यात्रा मुक्त..
Image
लखनऊ डीएम /बीसी अभिषेक प्रकाश की एलडीए पर बड़ी कार्रवाई..
तुलसीदास की लिखी रामायण की चौपाई , सचिव , वैद्य , गुरु जो बोले भय आज , राजधर्म तन ३ हुई बीग ही नाश.
किसी शायर ने खूब कहा , तारिक आज़मी की मोरबतियां - जय यादव की कलम से जो निकला वहीं सदातकत हैं, हमारी कलम के आगे तुम्हारी जीवाह छोटी सी है।
Image