*जिले में मौजूद 120 एफपीओ में से मात्र 40 के एक्टिव रहने पर सीडीओ ने जताया असंतोष*

"कलाम द ग्रेट न्यूज ब्यूरो चीफ जी.पी. दुबे"

97210 71175

 *जिले में मौजूद 120 एफपीओ में से मात्र 40 के एक्टिव रहने पर सीडीओ ने जताया असंतोष*

बस्ती 04 मार्च 2024.

जिला कृषि मॉनीटरिंग सेल की बैठक सीडीओ जयदेव सी.एस. की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि पंजीकरण से वंचित 11  कृषक उत्पादक संगठनों का डाटा पोर्टल पर अपलोड कराएं।

उन्होंने बैठक में उपस्थित एफपीओ के निदेशकों को निर्देशित किया कि वह कृषि एवं अन्य विभागों से संबंधित क्रियाकलाप को तत्काल शुरू काराये ताकि राज्य स्तर एवं जिला स्तर पर उसकी ग्रेडिंग की जा सके। रैंकिंग और ग्रेडिंग के आधार पर उन्हें लोन तथा योजनाओं का लाभ उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने असंतोष व्यक्त किया कि जिले में पंजीकृत 120 एफपीओ में से मात्र 40 ही एक्टिव है।

उन्होंने निर्देश दिया कि किसी जिला स्तरीय अधिकारी को इस योजना का नोडल भी नामित करें।

  उन्होंने निर्देश दिया कि सभी एफपीओ अधिक से अधिक किसानों को सदस्य बनाएं तथा उन्हें योजनाओं का लाभ दिलाए। उन्होंने कहा कि यूपीएफपीओ शक्ति पोर्टल पर पंजीकरण कराने, डाटा वैलिडेशन, रैंकिंग, ग्रेडिंग एवं विभिन्न प्रकार के पोर्टल पर उपलब्ध माड्यूल का अध्ययन करें तथा उसका लाभ उठाएं। सरकार द्वारा एफपीओ के माध्यम से किसानों की आय दुगुनी करने के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही हैं।

   लखनऊ से आए तकनीकी सहायक अनिमेश श्रीवास्तव ने बताया कि एफपीओ के माध्यम से बीज उत्पादन करने से किसानों की आय में वृद्धि होगी। शासन के निर्देश पर बीज उत्पादन करने वाले किसानों का बीज उत्तर प्रदेश बीज विकास निगम के द्वारा खरीदा जाएगा। एफपीओ प्रत्येक ब्लॉक में 50 एकड़ खेत का क्लस्टर बनाकर काला नमक धान तथा सब्जी का उत्पादन करते हैं, तो उन्हें निर्यात की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। एफपीओ द्वारा बीज उत्पादन करने पर उत्तर प्रदेश बीज प्रमाणीकरण संस्थान से उनका एमओयू साइन कराया जाएगा तथा किसानों का बीज प्रमाणित कराया जाएगा। 

    उन्होंने बताया कि शासन द्वारा उत्तर प्रदेश श्रीअन्न पुनरुद्धार कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है, जिसके अंतर्गत मोटे अनाज की खेती को बढावा दिया जा रहा है। बीज उत्पादन करने पर बीज विधायन यंत्र तथा भंडारण की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि प्रत्येक एफपीओ को गतिविधि शुरू करने के लिए  5 लाख का वर्किंग कैपिटल बैंक द्वारा दिलाया जा रहा है। कृषि विज्ञान केंद्र बंजरिया के वैज्ञानिक डॉ. बी.बी. सिंह ने काला नमक धान तथा सब्जी के बीज उत्पादन के संबंध में विस्तार से जानकारी दिया। उन्होंने कहा कि एफपीओ किसान सदस्यों के साथ उनके विज्ञान केंद्र का भ्रमण करें तथा बीज उत्पादन के संबंध में विस्तृत जानकारी प्राप्त करें।

एआर कोऑपरेटिव आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि एफपीओ साधन सहकारी समिति से एमओयू साइन करके अपनी गतिविधियों को आगे बढ़ा सकते हैं।

   बैठक का संचालन उपनिदेशक कृषि अशोक कुमार गौतम ने किया। इसमें लीड बैंक मैनेजर आर.एन. मौर्या, मत्स्य अधिकारी संदीप वर्मा, बीमा कंपनी के प्रबंधक शिवकुमार, एफपीओ के निदेशकगण तथा मृत्युंजय सिंह, अमित द्विवेदी, आर.एस. ओझा, रंजीत कुमार मौर्या, अजीत कुमार त्रिपाठी, तथा विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

        कलाम द ग्रेट न्यूज खबरें सबसे पहले।

    kalamthegreat9936@gmail.com

Contact number - 9453288935 , कलाम द ग्रेट न्यूज में विज्ञापन अथवा पत्रावली छपवाने हेतु संपर्क करें।

सम्पर्क कार्यालय लखनऊ*